सामाजिक बुराइयों के प्रति जागरूक करने का सशक्त माध्यम है लोक नृत्य व रोल प्ले

सामाजिक बुराइयों के प्रति जागरूक करने का सशक्त माध्यम है लोक नृत्य व रोल प्ले

 खंड स्तरीय लोक नृत्य व रोल प्ले प्रतियोगिता का हुआ आयोजन


 

बाढडा -

रोल प्ले और लोक नृत्य समाज में फैली विभिन्न सामाजिक बुराइयों के प्रति जागरूक करने का सशक्त माध्यम है। यह बात बीईओ जलधीर सिंह ने  खंड स्तरीय लोक नृत्य व रोल प्ले प्रतियोगिता के उद्घाटन अवसर पर कही। प्रतियोगिता का आयोजन नवचेतना स्कूल बाढड़ा में किया गया।

    खंड स्तरीय प्रतियोगिता के बारे में जानकारी देते हुए अशोक कुमार ने बताया कि खंड बाढड़ा के राजकीय स्कूलों से कक्षा 8 व 9 के छात्रों के लिए इस प्रतियोगिता का आयोजन डाइट बिरही कलां द्वारा करवाया गया। प्राचार्य दर्शन सिंह के नेतृत्व में आयोजित इस प्रतियोगिता में रोल प्ले व लोक नृत्य के माध्यम से में कन्या भ्रूण हत्या, नशा एवं एड्स जैसी सामाजिक बुराइयों के विषयों पर प्रकाश डाला गया। छात्रों ने इन विषयों पर अपनी अपनी प्रस्तुतियां रखी।  इस अवसर बच्चों को संबोधित करते हुए बीईओ जलधीर सिंह ने कहा कि छात्रों के लिए इस प्रकार की गतिविधियां बहुत ही लाभदायक होती हैं।

 सामाजिक बुराइयों के प्रति जागरूक करने का सशक्त माध्यम है लोक नृत्य व रोल प्ले

 अध्यापन कार्य के साथ साथ पाठ्यांतर गतिविधियां व्यक्तित्व विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। उन्होंने सभी प्रतिभागियों व टीम इंचार्ज का प्रतियोगिता में पहुंचने के लिए बधाई दी। प्रतियोगिता में ईश्वर पिलानियां, हरपाल आर्य, सोमबीर जांगड़ा, संजय शास्त्री, सोमबीर जगरामबास ने निर्णायक की भूमिका निभाई। प्राचार्य दर्शन सिंह ने प्रतियोगिता के परिणाम घोषित किये। रोल प्ले में रावमावि बेरला की टीम प्रथम व राजकीय मॉडल स्कूल बाढड़ा की टीम दूसरे स्थान पर रही।

 लोक नृत्य में रावमावि बेरला ने प्रथम व रावमावि कारी धारणी ने दूसरा स्थान प्राप्त किया। उन्होंने बताया कि खंड स्तर पर प्रथम व द्वितीय स्थान पर रहने वाली टीमें जिला स्तर पर भाग लेंगी। प्रतियोगिता में मंच संचालन हरपाल आर्य ने किया। इस अवसर पर राजेन्द्र शर्मा, प्रतिभा, एबीआरसी संदीप कुमार, अजित कुमार, सुनीता, अंजू, कमलेश, अनिता आदि उपस्थित रहे।

 
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel