हरे आम के पेड़ों की हो रही अंधाधुंध कटाई,अधिकारी नहीं कर रहे कोई कार्रवाई

हरे आम के पेड़ों की हो रही अंधाधुंध कटाई,अधिकारी नहीं कर रहे कोई कार्रवाई

नानपारा रेंज हरी लकडिय़ों के दोहन में जिले में अव्वल,


स्वतंत्र प्रभात 
 

बहराइच। वन विभाग की लापरवाही के चलते क्षेत्र में धड़ल्ले से हरे पेड़ों की कटाई की जा रही है। इसके बाद भी विभाग वन माफियाओं पर शिकंजा नहीं कस पा रहा है। इसके अलावा प्रशासन भी इस तरफ अनदेखी कर रहा है।


 जबकि हर वर्ष सरकार व प्रशासन हरियाली को बढ़ावा देने के लिए पौधरोपण अभियान चलाता है। इस पर सरकार द्वारा करोड़ों रुपए खर्च किए जाते हैं, जबकि उसकी सुरक्षा को लेकर संबंधित विभाग ही लापरवाही बरतते हैं।

 इसके अलावा विभिन्न संस्थाएं भी लगातार जागरूक करते हुए पौधरोपण कर रही हैं, जिससे जिला हराभरा रहे और प्रकृति संरक्षण का सपना साकार हो सके।वर्तमान में नानपारा वन रेंज क्षेत्र में पेड़ों की अंधाधुंध कटाई की जा रही है।


 सबसे खास तो ये है कि कस्बे सहित क्षेत्र में अवैध आरा मशीन बहुत ज्यादा हैं। जिनमें से कुछेक का ही पंजीयन है। जानकारी के अनुसार नानपारा और महसी क्षेत्र में दो दर्जन से अधिक के करीब आरा मशीन है,जबकि चंद आरा मशीनों का ही रजिस्ट्रेशन है।


 पेड़ काटने वालों पर कड़ी कार्रवाई नहीं होने के कारण इस पर प्रतिबंध नहीं लग पा रहा है। वन माफियाओं पर रोकथाम नहीं होने के कारण जहां चारों ओर कभी घने पेड़ नजर आते,आज दूर दूर तक क्षेत्र वीरान नजर आता है। वहां पर अब ठूंठ ही नजर आते हैं।


नानपारा वन रेंज के बेहडा से पिपरिया मार्ग के बीच सड़क के किनारे आजाद वर्मा के खेत में लगे सात हरे आम के पेड़ को लकड़ी के ठेकेदार काटकर ठिकाने लगा दिया।जानकारी लेने पर पता चला है कि चार आम के पेड़ों की परमिट थी।


लेकिन विभाग एवं खाकी के संरक्षण में लकड़ी के ठेकेदार ने सात पेड़ों को ठिकाने लगा दी।वन दरोगा सत्यजीत सिंह से दूरभाष पर जानकारी लेने का प्रयास किया गया। तो उन्होंने गोलमोल जवाब देते हुए फोन काट दिया। इससे साफ है कि कहीं ना कहीं विभाग भी संलिप्त है।


 

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel