सचिव पर की गई कार्यवाही से नाराज कर्मचारियों ने खाद वितरण न करने की दे डाली चेतावनी

सचिव पर की गई कार्यवाही से नाराज कर्मचारियों ने खाद वितरण न करने की दे डाली चेतावनी

सहकारी समिति कर्मचारी संघ के कर्मचारियों ने कहा, सचिव के साथ न हो अन्याय 


स्वतंत्र प्रभात 
स्वतंत्र प्रभात

महोबा । समिति सचिव प्रेमचंद यादव पर की गई विभागीय एफ0आई0आर की वापसी लेने के संबंध में सहकारी समिति कर्मचारी संघ के कर्मचारियों द्वारा सहायक आयुक्त एवं सहायक निबंध को लिखित प्रार्थना पत्र सौंप न्याय किए जाने की मांग की है।

             जानकारी के मुताबिक जनपद के कर्मचारियों का कहना है कि प्रेमचंद यादव सचिव कुलपहाड़ एवं अकौना दोनों जगह का चार्ज होने एवं बारिश होने के कारण शाम के समय उनके द्वारा खाद किसानों को दी गई थी तो वहीं बिना किसी आधार एवं खतौनी के यदि ग्राम प्रधान अकौना के किसानों को खाद नहीं दी गई तो उनके द्वारा समूह बनाकर सचिव को फर्जी फंसाकर उसकी एफ0आई0आर करा दी गई।


 इसके बाद विभाग द्वारा जांच कर सचिव की विभागीय एफ0आई0आर भी करा दी गई।प्रार्थना पत्र में बताया की सचिव द्वारा इतनी बड़ी गलती नहीं की गई। जिस पर रातों-रात सारी कार्यवाही करा दी गई है। यदि इस प्रकार विभाग द्वारा कार्यवाही की जाती रही तो एक भी सचिव विभाग में कार्य करने के लिए नहीं रहेगा। 

साथ ही आज तक किसी अधिकारी द्वारा आदेश जारी नहीं किया गया कि किसान को एकड़ के हिसाब से खाद्य देनी है। यदि गलती होती तो सचिव की एफ0आई0आर करा दी जाती। कर्मचारियों द्वारा सहायक आयुक्त एवं सहायक निबंध को प्रार्थना पत्र सौंप सचिव प्रेमचंद यादव की एफ0आई0आर वापस लिए जाने की मांग की है।


 अन्यथा की स्थिति में समस्त कर्मचारी आज से ही उर्वरक वितरण का कार्य बंद कर देंगे। और ना ही खाद उतारेंगे जिससे किसानों को होने वाली समस्या के जिम्मेदार अधिकारियों की होगी।

बॉक्स

समिति में पड़ा ताला, खाद के लिए भटक रहे किसान

जहाँ एक ओर खाद की कमी व कालाबाजारी से किसानों को खाद लेने के लिए समितियों के चक्कर काटने पड़ रहे हैं तो वहीं अब सचिव पर कार्यवाही होने से नाराज कर्मचारियों द्वारा कार्य का बहिष्कार करने की चेतावनी से अब किसानों को समय से खाद उपलब्ध न होने का डर सता रहा है। 


ऐसा ही नजारा आज कुछ साधन सहकारी समिति कबरई-2 में देखने को मिला जहाँ पर सुबह से ही समिति में ताला लटका रहा और किसान खाद लेने के लिए दिनभर इंजतार करते रहे और शाम को किसानों को बैगैर खाद लिए मायूस घर लौटना पड़ा।


 कबरई के किसान अजीत सिंह ने बताया कि वह सुबह से खाद लेने के लिए आ गए थे और शाम तक खाद लेने के इंतजार में खड़े रहे लेकिन किसी भी कर्मचारी द्वारा खाद नही दी गई और समिति में ताला लटका रहा। सचिव अनीता सिंह से बात करनी चाही तो उनका नम्बर स्विच ऑफ जा रहा था।

 खाद लेने आये किसानों में ओमकार गुरुदेव शास्त्री नगर कबरई , ओम प्रकाश शुक्ला शास्त्री नगर कबरई, राजाराम कुशवाहा लिलवाही, बलदेव लिलवाही, गोरेलाल प्रजापति सुकौरा , गंगाराम कुशवाहा कबरई, सुनील कुशवाहा जवाहर नगर कबरई , रामपाल पाठक, कबरई पप्पू शुक्ला कबरई, जगरूप सिंह छानी आदि थे।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel