नहीं निकला जुलूस-ए-मोहम्मदी, सादगी के साथ मना ईद-मिलाद-उन-नबी, पुलिस प्रशासन रहा मुस्तैद

नहीं निकला जुलूस-ए-मोहम्मदी, सादगी के साथ मना ईद-मिलाद-उन-नबी, पुलिस प्रशासन रहा मुस्तैद

सादुल्लाह नगरबाज़ार एवं ग्रामीण इलाकों में मंगलवार को ईद-मिलादु-उन-नबी सादगी के साथ मनाया गया।



स्वतंत्र प्रभात

सादुल्लाहनगर/बलरामपुर- प्रशासन के निर्देशों का पालन करते सादुल्लाह नगर एवं ग्रामीण इलाकों में मंगलवार को ईद मिलादुन्नबी सादगी के साथ मनाया गया। प्रशासन के निर्देशों का पालन करते हुए इस वर्ष भी जुलूस नहीं निकाला गया।

 इस्लामिक साल के रबी अव्वल माह की 12 तारीख को हजरत मोहम्मद सल्ल.अलैही व-सल्लम की पैदाइश का जश्न मनाया जाता है हुजूर की पैदाइश के समय पूरब-पश्चिम और काबे की छत पर तीन झंडे गड़े हुए थे अकीदतमंदों ने अपने-अपने घरों दुकानों और मुहल्लों में झंडा इसी याद को ताजा करने के लिए लगते है।

यौमे पैदाइश के जश्न को लेकर सादुल्लाहनगर व आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों के लोग अपने गांव में इकट्ठा होकर जुलूस के शक्ल में नातो कलाम पढ़ते हुए गूमा फातमाजोत में एकजुट होते थे। वहां से हजारो की संख्या में जुलूस सादुल्लाह नगर बाजार होते हुए बाबा शहीद ए मिल्लत थाना सादुल्लानगर में हाजिरी देते थे हाजिरी देने के बाद जुलूस मुबारक मोड़ चौराहे पहुंचकर उलमाओं का तकरीर होता था उसके बाद मनकापुर रोड स्थित इलाही नगर मजार पर हाजिरी देते हुए संपन्न किया जाता था।

 कोविड19 की नियमावली के मद्देनजर पुलिस प्रशासन की सख्त हिदायत थी की जुलूस सड़क व चौराहों पर नहीं निकाला जायेगा। पुलिस आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में पूरा दिन गस्त करते रहे। उतरौला तहसीलदार नरेंद्र राम ने भी सादुल्लाह नगर क्षेत्र का दौरा किया सादुल्ला नगर थाना प्रभारी राजकुमार सरोज अपने पुलिस महकमे के साथ मुस्तैद दिखे।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel