अमृत क्रीड़ा महोत्सव में रहा अव्यवस्थाओं का बोल बाला भूख से बिलबिलाते रहे प्रतिभागी

अमृत क्रीड़ा महोत्सव में रहा अव्यवस्थाओं का बोल बाला भूख से बिलबिलाते रहे प्रतिभागी

मीडिया कर्मियों के पहुंचने पर प्रतिभागियों ने विरोध जताते हुए जमकर प्रदर्शन किया।


स्वतंत्र प्रभात 
 


 ,रायबरेली।  शिवगढ़ क्षेत्र में अमृत कीड़ा महोत्सव के प्रथम दिन अव्यवस्थाओं का बोलबाला रहा। क्रीड़ा महोत्सव में शामिल प्रतिभागी भूख से परेशान रहे। मीडिया कर्मियों के पहुंचने पर प्रतिभागियों ने विरोध जताते हुए जमकर प्रदर्शन किया।

 विदित हो कि आजादी के 75 वर्ष पूरा होने पर पूरे देश में कीड़ा अमृत महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। जिसके अन्तर्गत सोमवार को शिवगढ़ स्थित ग्राउंड में 3 दिवसीय क्रीडा प्रतियोगिता शुरु की गई। प्रतियोगिता के पहले दिन 3 न्याय पंचायतों के प्रतिभागियों ने प्रतिभाग किया। कीड़ा महोत्सव कार्यक्रम सुबह 9 बजे शुरू हुआ जिसमें प्रथम दिन न्याय पंचायत बैंती, भौसी, बेडारू के प्रतिभागियों ने क्रीड़ा महोत्सव में प्रतिभाग किया। 


अमृत क्रीड़ा महोत्सव में परिषदीय और प्राइवेट विद्यालयों के छात्र-छात्राओं के अलावा गांव के किशोर और युवाओं ने प्रतिभाग किया। अमृत क्रीड़ा महोत्सव में प्रतिभाग करने के लिए प्रतिभागी सुबह करीब 9 बजे प्रतिभाग करने पहुंच गए। आयोजकों द्वारा प्रतिभागियों को यह जानकारी दी गई थी कि अमृत कीड़ा महोत्सव में प्रतिभाग करने वाले प्रतिभागियों के नाश्ते पानी की बाकायदा व्यवस्था रहेगी। जिससे   प्रतिभागी पूरी तरह निश्चिंत थे, दर्जनों प्रतिभागी ऐसे थे जो सुबह-सुबह घर से बगैर नाश्ता पानी किए आए थे। शाम 4 बजे तक जब प्रतिभागियों को खाने को कुछ नहीं मिला तो सभी भूख से बिलबिलाने लगे। आक्रोषित 

प्रतिभागियों ने मंचासीन खण्ड विकास अधिकारी विजयंत सिंह के सामने विरोध प्रदर्शन शुरु कर दिया। प्रतिभागी करन मिश्रा ,अभिषेक, दीनदयाल सहित सैकड़ों प्रतिभागियों का कहना था कि सुबह से पानी छोड़कर कुछ भी नाश्ते में नहीं दिया गया, प्रतिभागियों ने बताया कि भूख से हम सभी परेशान हैं।प्रतिभागियों का कहना था कि जिस ग्राउंड में दौड़ कराई गई, कबड्डी कराई गई, खो-खो आदि खेल कराए गए उसमें बड़े-बड़े गड्ढे और गन्दगी थी। प्रतिभागियों ने बताया कि आयोजक कमेटी न ही ग्राउंड को सही कराया गया और ना ही ग्राउंड की सफाई कराई गई,जिसके चलते कई बच्चों के हाथ पैर छिल गए, मोच आ गई।


क्या कहते हैं जिम्मेदार...


समय 4:15 पर खण्ड विकास अधिकारी विजयंत सिंह प्रथम, द्वितीय, तृतीय स्थान पाने वाले प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र बांट रहे थे। जब उनसे मीडिया कर्मियों ने यह सवाल पूछा कि प्रतिभागियों के जलपान की  व्यवस्था क्यों नहीं थी। तो खण्ड विकास अधिकारी मीडिया कर्मियों के सवालों का जबाब नही दे पाए। उन्होने कहाकि जलपान कराया जायेगा।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel