परिवार का प्यार गुरुजनों की आशीर्वाद का आभारी हूं-शिप्रा चौबे

ब्यूरो रिपोर्ट-प्रमोद रौनियार

शिप्रा की शानदार सफलता पर घर में अपार खुशी की मिल रही है प्यार

आगे की पढ़ाई कर बंनुगी इंजीनियर-शिप्रा
कुशीनगर जनपद में तीसरा स्थान प्राप्त करने वाली शिप्रा चौबे भारतीय इंटरमीडिएट कालेज पडरौना की छात्रा है। शिप्रा ने गणित वर्ग से इंटरमीडिएट परीक्षा उत्तीर्ण की है और उनका सपना प्रतिष्ठित इंजीनियरिंग संस्थान आईआईटी में प्रवेश पाना और कम्प्यूटर साइंस विषय के साथ इंजीनियर बनने का है।

सामान्य परिवार की है शिप्रा चौबे

शिप्रा चौबे  पडरौना नगर के एक बेहद सामान्य परिवार से ताल्लुक रखती हैं। इनके पिता मनीष चौबे एक सेल्स मैनेजर की नौकरी कर परिवार का पालन पोषण करते  हैं। 
इंजीनियर बनकर करूंगी माता-पिता का नाम रौशन


शिप्रा ने बताया कि यद्यपि प्राप्तांक उनकी उम्मीद से कम हैं फिर भी प्राप्त अंकों पर संतोष जताते हुए उन्हें विश्वास है कि वह अपने जीवन के अग्रिम लक्ष्य की ओर लगन से परिश्रम करेंगी तथा अपने माता पिता का नाम अवश्य रोशन करेंगी।
शिप्रा ने गुरुजन और परिजनों का जताई आभार
उन्होंने अपने परीक्षा परिणाम के लिए अपने विद्यालय बीआईसी के गुरुजनों और परिवार के सदस्यों के प्रति आभार व्यक्त किया। जिनके आशीर्वाद और मार्गदर्शन के बिना यह असंभव था।

https://www.swatantraprabhat.com/bic-padrona-safe-places-in-topten/

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here