प्रवीन हत्याकंड को अंजाम देने वाले शार्प शुटर को क्राईम ब्रान्च डीएलएफ ने किया गिरफ्तार

प्रवीन-हत्याकंड-को-अंजाम-देने-वाले-शार्प-शुटर-को-क्राईम-ब्रान्च-डीएलएफ-ने-किया-गिरफ्तार

राजेश दुग्गल डीसीपी ने प्रेस वार्ता कर दी जानकारी


फरीदाबाद ।
 शहर पुलिस कमिश्नर ओ.पी सिंह के दिशा निर्देशन में सलमान खान की रेकी करने व थाना एस.जी.एम. नगर एरिया मे प्रवीन हत्याकंड को अंजाम देने वाले शार्प शुटर राहुल उर्फ सांगा उर्फ बाबा को क्राईम ब्रान्च डीएलएफ ने उत्तराखंड से 15 अगस्त को गिरफ्तार किया है । इसकी जानकारी राजेश दुग्गल डीसीपी ने मुख्यालय में प्रेस वार्ता कर जानकारी दी है आपको बताते चले कि पुलिस के मुताबिक शातिर बदमाश राहुल उर्फ बाबा ने गैंगस्टर लोरेन्स बिशनोई वा सम्पत नहेरा के कहने पर जनवरी 2020 को मुम्बई जाकर सलमान खान की कि थी रेकी ।


दिसम्बर 2019 मे बदमाश राहुल उर्फ बाबा ने दिल्ली से बदमाश नरेश शेट्टी को पुलिस की आंखो मे मिर्च झौंककर पुलिस कस्टडी से भगाया था ।बाद में नरेश सेठी,कपिल व अन्य साथीयो की मदद से संदीप जठेडी को गुडगाव पुलिस की कस्टडी से छुडवाया था।


नरेश सेठी,कपिल वा अन्य साथी अभी जेल मे है ।एस.जी.एम नगर में प्रवीन हत्या से पहले भी बदमाश राहुल उर्फ बाबा मनजीत के साथ मिलकर भिवानी मे अनुज तथा कपिल के साथ मिलकर झज्जर मे विकास की हत्या की वारदात को अंजाम दे चुका है।  


राजेश दुग्गल डीसीपी मुख्यालय ने प्रेस वार्ता के दौरान जानकारी देते हुए बताया की  आरोपी राहुल ने 2016 से 2018 तक  फरीदाबाद  ESIC अस्पताल में अस्थाई तौर पर नौकरी की थी। 2018 मे क्राईम  ब्रान्च बडखल ने राहुल से अवैध हथियार बरामद करके जेल भेजा था। जेल से जमानत पर आने के बाद राहुल लोरेन्स बिशनोई की गैंग मे शामिल हो गया। बदमाश राहुल को शक था कि उसे पकडवाने में प्रवीन का हाथ है । इस रंजिश के कारण राहुल उर्फ बाबा और उसके साथीयो ने दुकान पर आकर प्रवीन की गोली मार कर हत्या कर दी ।

उसके साथी रोहित,आशीष वा मनीष ने उसे छुपाया वा नोएडा भगाने में मदद की थी । बदमाश राहुल ने अपने साथीयों के साथ  मिलकर 24 जून को प्रशांत उर्फ प्रवीन के भाई  सुशिल मितल की शिकायत पर थाना एसजीएम नगर में संगीन धाराओ में मुकदमा दर्ज किया गया था ।


वारदात की गम्भीरता  को देखते हुए पुलिस कमीशनर ओपी सिहं के आदेश पर पुलिस उपायुक्त अपराध मकसूद अहमद  के दिशा निर्देश पर सहायक पुलिस आयुक्त श्री अनिल कुमार  ने अपराध शाखा DLF फरीदाबाद में टीम का गठन किया था  जिसमे इंस्पेक्टर सुरेंदर सिंह, सब इंस्पेक्टर ब्रह्म प्रकाश,एएसआई कप्तान सिंह,एएसआई अमर सिंह, मुख्य सिपाही आनंद , मुख्य सिपाही कुलदीप , मुख्य सिपाही अनूप ,सिपाही अनिल (साइबर एक्सपर्ट ) ,सिपाही सूरज, सिपाही नितिन , मुख्य सिपाही रोशन लाल ,सिपाही सुरेन्द्र (ड्राईवर ) शामिल रहे।

क्राइम ब्रांच DLF टीम के सब इंस्पेक्टर ब्रह्म प्रकाश ने पहले भी बार्डर इंचार्ज के तौर पर काम बहुत से मामले में अच्छा भूमिका निभाये थे जिसमे आज ये मामला प्रमुख रूप से देखा जा सकता है इस मामले की गहनता से जाँच करते हुए हत्या करने वाले अपराधियों का मृतक द्वारा 2018 में हुए विवाद व अवैध हथियार को पकडवाने को लेकर हत्या करने का मामला सामने आने पर आस-पास लगे CCTV कैमरा की फुटेज चैक की और आरोपियों की पहचान राहुल उर्फ़ सांगा व मंजीत भिवानी के रूप में होने पर प्रशांत की हत्या करने से पहले रेकी करने व हत्या के बाद भगाने में पैसे व गाडी देकर आरोपियों की मदद करने वाले मनीष उर्फ़ मुल्ला , रोहित व भारत निवासी पलवल को गिरफ्तार किया व लारेंस गैंग के मास्टर माइंड शार्प शूटर राहुल उर्फ़ सांगा उर्फ़ बाबा उर्फ सुन्नी व उसके साथी आशीष उर्फ आशु निवासी भिवानी को गिरफ्तार किया गया जो मास्टर माइंड शार्प शूटर राहुल उर्फ़ सांगा उर्फ़ बाबा उर्फ सुन्नी व उसके साथियों ने अनेको आपराधिक घटनाओ बारे खुलासा किया है

जिसमे वारदात में उन्होंने बताया कि सन 2018 में राहुल उर्फ बाबा  फरीदाबाद में हथियार के साथ पकड़ा गया उसके बाद राजू बसोदिया के कहने पर राहुल उर्फ बाबा अगस्त 2019 अपने साथी रवि उर्फ भोला,कपिल फोगाट ,मंजीत राठी ,राजन ,आशीष उर्फ़ बच्ची , गगन बोक्सर के साथ मिलकर नरेश सेट्ठी और राजू का दुश्मन विकास देसवाल गाँव बधानी झज्जर में कपिल की स्कार्पियो में जाकर गोली मारकर हत्या की थी उसके बाद मुकेश उर्फ मिक्कू ने संपत से बात कराई  उसके बाद राहुल उर्फ सांगा  लारेंस गैंग में शामिल हो गया । दिसम्बर 2019 में राजू बसोदिया व लारेंस के कहने पर राहुल उर्फ बाबा ,रवि उर्फ भोला,कपिल फोगाट ,मंजीत राठी ,राजन ,आशीष उर्फ़ बच्ची , गगन बोक्सर के साथ मिलकर मनप्रीत उर्फ़ मन्ना को मलोट (पंजाब ) की गोली मारकर हत्या की थी इसके अलावा भी अन्य घटनाओ के बारे में भी आरोपियों ने खुलासा किया है।