मदर्स डे -माँ का अपने बच्चे के प्रति प्रेम

मदर्स डे -माँ का अपने बच्चे के प्रति प्रेम

Savita Singh

मदर्स डे  माँ का अपने बच्चे के प्रति प्रेम, त्याग और देखभाल का  उत्सव है मदर्स डे। माँ का बिना शर्त और शुद्ध प्यार हमेशा अपने बच्चों के लिए होता है। जब बच्चे अपनी माँ की आँखों में देखते हैं,तो बच्चे जानते हैं कि इस धरती पर मिलने वाला सबसे शुद्ध प्रेम माँ का अपने बच्चे के प्रति प्रेम है।

क्या आप जानते है आपकी माँ ही है जो हमे इस धरती पर दुनिया से 9 महीना ज़्यादा जानती है । मदर्स डे अधिकांश देशों में हर साल मई के दूसरे रविवार को मनाया जाता है। इस वर्ष मदर्स डे 9 मई को मनाया जायेगा।

माँ अपने बच्चे की  रक्षा करती है , उनसे प्यार करती है   और उन्हे सक्षम इंसान बनाने के लिए परवरिश करती है। क्या  माँ के बिना जीवन की कल्पना हो सकता हैं ? यह असंभव है।

 मदर्स डे मनाने के भिन्न- भिन्न तरीक़े

1) अगर आप की माँ आपके साथ नहीं रह रही है तो माँ को फोन कॉल   करें और उनसे प्यारी बाते करें।

2) यदि आपकी माँ आपके साथ रह रही है, तो बिस्तर पर ही उनकी नाश्ता क्लासिक तरीका है मदर्स डे मनाने का।

 3) सभी बच्चे मिलकर वीडियो रिकॉर्ड करें और कहे “हैप्पी मदर्स डे” ।माँ का एक शानदार वीडियो बनाये।

4) ताजा हवा हमेशा सेहत को तरो ताज़ा रखती है। प्रकृति का आनंद लेने के लिए बहुत सारी जगह है जैसे पार्क में टहलने जाएं या माँ को पिकनिक के बारे में बताएं।

5) माँ को बच्चे का दिया हुआ उपहार बहुत पसंद होता हैं। आप अपने मदर्स को अपने हाथ से बनाया हुआ उपहार दे।

6) माँ भगवान का रूप है माँ का पूजा करें। कहा गया है कि जिस घर में माता-पिता का आदर सत्कार होता है उस घर में शनि, राहु और केतु ग्रह का अशुभ प्रभाव बहुत कम रहता हैं।

“माँ का जीवन हाय तुम्हारी,

आँचल में है ममतामई दूध और आँखों में पानी,

फिर भी है माँ तू निराली “।