महाप्रबंधक उत्तर मध्य रेलवे ने 160 किलोमीटर प्रति घंटा की गति बढ़ाने की समीक्षा की

महाप्रबंधक उत्तर मध्य रेलवे ने 160 किलोमीटर प्रति घंटा की गति बढ़ाने की समीक्षा की
‌स्वतंत्र प्रभात।
‌प्रयागराज ।
‌डीएस त्रिपाठी की रिपोर्ट।
‌ महाप्रबंधक उत्तर मध्य रेलवे  और पूर्वोत्तर  रेलवे  श्री विनय कुमार त्रिपाठी ने उत्तर मध्य रेलवे  परिक्षेत्र में पड़ने वाले नई दिल्ली-हावड़ा और नई दिल्ली-मुंबई ट्रंक मार्गों के 160 किलोमीटर प्रति घंटे की गति पर उन्नयन के महत्वपूर्ण कार्य के निष्पादन के लिए फ़ील्ड स्तर की तैयारियों की समीक्षा के लिए एक विस्तृत बैठक की। उन्होंने विशेष रूप से ओएचई में संशोधन, बिजली आपूर्ति व्यवस्था में सुधार से संबंधित कार्यों की स्थिति की समीक्षा की।
160 किलोमीटर प्रति घंटा की गति बढ़ाने वाले कार्यों में ओएचई और बिजली आपूर्ति संबंधी कार्य अति महत्वपूर्ण हैं एवं कुल कार्य की लागत का 58% हैं। मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय प्रयागराज में आयोजित इस बैठक में प्रमुख मुख्य बिजली इंजीनियर उत्तर मध्य रेलवे    सतीश कोठारी, मंडल रेल प्रबंधक प्रयागराज  मोहित चंद्रा, मंडल रेल प्रबंधक आगरा  एस के श्रीवास्तव सहित मुख्यालय और प्रयागराज मंडल के संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।
‌बैठक के प्रारंभ में मंडल रेल प्रबंधक प्रयागराज ने महाप्रबंधक  वी के त्रिपाठी और अन्य अधिकारियों का स्वागत किया, जिसके बाद वरिष्ठ मंडल बिजली इंजीनियर टीआरडी प्रयागराज द्वारा कार्य निष्पादन, संसाधन प्रबंधन, आरडीएसओ एवं रेलवे बोर्ड से अपेक्षित सहायता इत्यादि विषयों को विस्तृत रूप से कवर करते हुए प्रस्तुतिकरण किया गया। बैठक में ट्रैफिक ब्लॉक के दौरान काम के निष्पादन के लिए संबंधित विभागों द्वारा इंटीग्रेटेड रूप से कार्य करने की योजना को प्रस्तुत किया गया और इस पर विस्तार से चर्चा की गई।
‌मंडल द्वारा प्रस्तुत फील्ड स्तरीय योजना की समीक्षा करते हुए, महाप्रबंधक श्री त्रिपाठी ने कहा कि 160 किलोमीटर प्रति घंटे के काम के लिए हमारी विस्तृत योजना में भाऊपुर- खुर्जा खंड में डीएफसी मार्ग की उपलब्धता के अनुरूप योजना को तैयार किया जाना चाहिए।
‌उन्होंने कहा कि इससे ट्रैफिक ब्लॉक के निर्धारण, संसाधनों के प्रयोग, वर्क साइट की योजना एवं  विभिन्न महत्वपूर्ण गतिविधियों के लिए टाइमलाइन के लिए सटीक योजना बनाने में मदद मिलेगी। उन्होंने प्रयागराज और आगरा मंडल को यह भी आश्वासन दिया कि इस महत्वपूर्ण कार्य के निष्पादन में मुख्यालय से सभी अपेक्षित इनपुट और सहायता प्रदान की जाएगी। एक सप्ताह के अंतराल में महाप्रबंधक के स्तर पर 160 किलोमीटर प्रति घंटे की गति बढ़ाने के कार्यों की यह दूसरी समीक्षा बैठक है और इससे कार्य के लिए आवश्यक अतिरिक्त अधिकारियों, पर्यवेक्षकों, मशीनरी आदि की तैनाती से संबंधित कई मुद्दों के समाधान में अपेक्षित तेज़ी आयी है।इस महत्वपूर्ण कार्य का सम्पादन हमारे सम्मानित ग्राहकों के लिए तीव्र गति और अधिक आरामदायक यात्रा के अनुभव को सुनिश्चित करेगा।