आटाचक्की पर सोए अधेड़ की धारदार हथियार से हत्या

सुबह परिजनों के पहुंचने पर हुई जानकारी

आटाचक्की पर सोए अधेड़ की धारदार हथियार से हत्या

रंजिशन हत्या का लगाया आरोप।

स्वंतत्र प्रभात।
प्रतापगढ़। 

संग्रामगढ़ थाना क्षेत्र के विजईमऊ गांव में बीती रात एक अधेड़ की धारदार हथियार से हत्या कर दी गई। इस वारदात को आटाचक्की में अंजाम दिया गया, जिसमें अधेड़ बीती रात सोने के लिए गया था। आज सुबह काफी देर तक अधेड़ के घर नहीं लौटने पर परिजन मौके पर पहुंचे तो अधेड़ का रक्तरंजित शव पड़ा था। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मौका मुआयना कर शव को चीरघर भेजा। 

जानकारी के मुताबिक विजईमऊ गांव निवासी हरिश्चंद्र पटेल (55) पुत्र विशेषर खेती-किसानी के साथ-साथ आटा चक्की का संचालन कर परिवार की आजीविका चलाता था। शुक्रवार की रात खाना खाने के बाद हरिश्चंद्र सोने के लिए अपनी आटा चक्की पर चला गया था। जहां धारदार हथियार से उसकी हत्या कर दी गई। आज सुबह मामले की जानकारी होतेही हड़कंप मच गया। मौके पर स्थानीय लोगों कीभीड़ जमा हो गई।

इस मामले की जानकारी होने पर एसओ इंद्रदेव मयफोर्स मौके पर पहुंचे और घटना से उच्चाधिकारियों को अवगत कराया। विधिक कार्यवाही करते हुए पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर चीरघऱ भेज दिया है। सूचना पर क्षेत्राधिकारी रामसूरत ने भी मौका मुआयना किया और परिजनों को सख्त कार्यवाही का आश्वासन दिया। 

इस मामले में मृतक के परिजनों की तरफ से नामजद तहरीर देते हुए रंजिशन हत्या का इल्जाम लगाया गया है। फिलहाल, हरिश्चंद्र पटेल की मौत से पूरे घर में मातम पसरा हुआ है। मृतक हरिश्चंद्र के तीन बच्चे हैं और तीनों बालिग हैं। समाचार लिखे जाने तक हत्या की ठोस वजह सामने नहीं आ पाई थी।

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel

राज्य

बगीचे में लटकता मिला युवक का शव, पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम को भेजा
प्रतिबंधित थर्माकोल प्लेट से भारी पिकअप प्रवर्तन दल ने पकड़ा
गोमती नदी में नहाते वक्त दो किशोर डूबे, हुई मौत पुलिस ने शव को बरामद कर परिजनों को सौंपा 
राज्य में पड़ रहे भीषण गर्मी को देखते हुए झारखंड में 15 जून तक सभी स्कूल रहेंगे बंद, आदेश जारी
मुख्यमंत्री चम्पाई सोरेन  ने राज्य में विधि- व्यवस्था  और अपराध -उग्रवाद नियंत्रण को लेकर वरीय  पदाधिकारियों की उपस्थिति में जिलों के उपायुक्त एवं वरीय पुलिस अधीक्षक/ पुलिस अधीक्षक के साथ की उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक, दिए कई अहम निर्देश

साहित्य ज्योतिष

संजीव-नी।
संजीव-नीl
संजीव-नी।
संजीव-नी।
संजीवनी।