रामभक्तों के अभिनंदन के लिए श्री राम दर्शन यात्रा के केंद्रीय समन्वयक के नेतृत्व में सरयू जल लेकर रामेश्वरम

रामभक्तों के अभिनंदन के लिए श्री राम दर्शन यात्रा के केंद्रीय समन्वयक के नेतृत्व में सरयू जल लेकर रामेश्वरम

केंद्रीय समन्वयक ई. रवि तिवारी के नेतृत्व में एक दल ने रामेश्वरमधाम प्रस्थान किया l


स्वतंत्र प्रभात 
 


अयोध्या। श्री राम वन गमन पथ पर पदयात्रा कर अयोध्या से रामेश्वरम तक पहुंचने वाले रामभक्तों का श्री रामेश्वरमधाम में यात्रा की पूर्णता पर अभिनंदन करने हेतु श्रीराम दर्शन यात्रा के केंद्रीय समन्वयक ई. रवि तिवारी के नेतृत्व में एक दल ने रामेश्वरमधाम प्रस्थान किया l


 वशिष्ठपीठ तिवारी मंदिर के वर्तमान परंपरावाहक श्रीमहंत गिरीशपति त्रिपाठी जी महाराज ने पुण्यसलिला सरयू जल रामेश्वरम जाने वाले दल को सौंपकर श्रीरामेश्वरम के जलाभिषेक के लिए भेजा है। यात्रा प्रस्थान से पूर्व इस दल ने श्री राम जन्मभूमि, श्री हनुमानगढ़ी, श्री नागेश्वरनाथ एवं माँ सरयू का दर्शन पूजन किया।


इस दल में श्रीराम दर्शन यात्रा के केंद्रीय प्रबंधक प्रवीण सिंह एवं राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के जिला सेवा प्रमुख पुष्कर दत्त तिवारी शामिल हैं। 

490 वर्षों तक चले अनेकों पीढ़ियों के संघर्ष के बाद अयोध्या में भव्य श्रीराम मंदिर निर्माण का प्रशस्त हुआ मार्ग ।


श्रीराम दर्शन यात्रा के केंद्रीय टोली के सदस्य बलराम तिवारी ने यह जानकारी देते हुए बताया है कि 490 वर्षों तक चले अनेकों पीढ़ियों के संघर्ष के बाद अयोध्या में भव्य श्रीराम मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त हुआ है।


 जो समस्त विश्व के रामभक्तों  एवं चराचर जगत के लिए सकारात्मक ऊर्जा का संचार करने वाला कारक है। ऐसे समय में जब भारत की स्वतंत्रता का अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है, एक सुशासन के पर्याय के रूप में रामराज्य की स्थापना का संकल्प सभी के मानसपटल पर अंकित होना स्वाभाविक ही है। 


भगवान राम ने रामराज्य की स्थापना के पूर्व दुराचारी रावण को समाप्त करने के पहले भगवान रामेश्वरम की पूजा अर्चना करके शक्ति प्राप्त की थी। उसी संकल्प को आगे बढ़ाते हुए विश्वकल्याणार्थ आदर्श समाज की संकल्पना के आधारभूत विचारों को केंद्र में रखते हुए श्री रामेश्वरम जी के जलाभिषेक एवं पूजन-अर्चन के निमित्त श्रीराम दर्शन यात्रा समिति द्वारा इस यात्रा की योजना बनाई गई।

अयोध्या जनपद के शाहगंज में जन्मे दो रामभक्त जिन्होंने श्रीराम वन गमन पथ पर पदयात्रा करते हुए अयोध्या से रामेश्वरम तक की यात्रा


विदित हो कि अयोध्या जनपद के शाहगंज में जन्मे दो रामभक्त अमित जी एवं सिद्धार्थ जी जिन्होंने श्रीराम वन गमन पथ पर पदयात्रा करते हुए अयोध्या से रामेश्वरम तक की यात्रा पूर्ण की है। उनके श्रीरामेश्वरमधाम पहुंचने पर अभिनंदन एवं उन दोनों राम भक्तों के नेतृत्व में श्रीराम दर्शन यात्रा समिति के दल द्वारा 


श्री रामेश्वरम जी के सरयू जल से जलाभिषेक की योजना बनाई गई। अयोध्या के वशिष्ठ पीठाधीश्वर प्रतिष्ठित महंत गिरीश पति त्रिपाठी महाराज ने सरयू जल श्रीरामदर्शन यात्रा के केंद्रीय समन्वयक रवि तिवारी, प्रवीण सिंह एवं पुष्कर दत्त तिवारी को प्रदान कर रामेश्वरम यात्रा की शुभकामनाएं एवं आशीर्वाद प्रदान किया।

ज्ञात हो कि विगत लगभग 4 महीनों से प्रतिदिन 20 से 40 किलोमीटर पदयात्रा करते हुए श्रीराम वन गमन पथ पर चलकर रामभक्त अमित एवं सिद्धार्थ ने लगभग ढाई हजार किलोमीटर की यात्रा पूर्ण की है। यह यात्रा 22 अक्टूबर को


 सायंकाल रामेश्वरमधाम पहुंच जाएगी। 23 अक्टूबर प्रातःकाल श्रीरामेश्वरमधाम में उनके अभिनंदन हेतु अयोध्या से गया हुआ श्रीराम दर्शन यात्रा समिति का दल भी वहां पहुंच कर भगवान रामेश्वरम का जलाभिषेक एवं लोककल्याणार्थ रामराज्य की स्थापना का मार्ग प्रशस्त करने हेतु भगवान रामेश्वरम से प्रार्थना करेगा।


 

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

अंतर्राष्ट्रीय

चीन में बढे कोरोना संक्रमण के मामले, सरकार ने लॉकडाउन की अवधि को बढ़ाया चीन में बढे कोरोना संक्रमण के मामले, सरकार ने लॉकडाउन की अवधि को बढ़ाया
स्वतंत्र प्रभात  चीन में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर लॉकडाउन की अवधि को बढ़ा दिया गया है।...

Online Channel