शिक्षक की शिकायत पर खंड शिक्षा अधिकारी का जांच करने पहुंचे लेखा अधिकारी

बीओ तारकेश्वर का जांच करने पहुंचे कामेश्वर अब आगे क्या होगा जाने परमेश्वर

महराजगंज। नौतनवां विकास खंड के अरघा परिषदीय विद्यालय के पूर्व प्रभारी प्रधानाध्यापक व राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के संयोजक ऋषिकेश गुप्त ने नौतनवां खंड शिक्षा अधिकारी तारकेश्वर पाण्डेय पर भ्रष्टाचार जैसे अन्य कई गंभीर आरोप लगाते हुए जिलाधिकारी महराजगंज समेत मुख्य विकास अधिकारी व राज्य परियोजना निदेशक तथा शिक्षा निदेशक आदि को लिखित शिकायती पत्र देकर खंड शिक्षा अधिकारी पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था।

 

जहां मामले में शिक्षकों की शिकायत पर मुख्य विकास अधिकारी ने सहायक वित्त व लेखा अधिकारी कामेश्वर कुमार को जांच अधिकारी नियुक्त कर भ्रष्टाचार की गहनता से जांच करने का आदेश दिया था। वहीं मंगलवार को शिकायतों के आधार पर जांच करने पहुंचे कामेश्वर कुमार को बिना कुछ खुलासा किए ही पुख्ता प्रमाण पेश न करने के नाम पर मामले को अटकाते हुए बेरंग वापस लौटना पड़ा।

 

मामले में शिकायत कर्ता का कहना था कि हमें लिखित में उपस्थित रहने का कोई सूचना नहीं दिया गया था तथा जांच अधिकारी के पहुंचने के बाद हमें फोन के माध्यम से आने के लिए कहा गया।

वहीं मामले में जांच अधिकारी कामेश्वर कुमार ने बताया कि दोनों पक्ष द्वारा कोई पुख्ता प्रमाण पेश ना कर पाने के कारण जांच को स्थगित किया गया है तथा दोनों पक्ष को आदेश दिया गया है कि अगले जांच तिथि तक पुख्ता अभिलेखो के साथ उपस्थित रहे।

मामले में विभागीय सूत्रों ने बताया कि खंड शिक्षा अधिकारी तारकेश्वर पाण्डेय अडिएल स्वभाव के व्यक्ति है जो हमेशा मनमानी करने पर आमादा रहते हैं। और कुछ अपने चहेते अध्यापकों को लेकर पूरे दिन वसूली करने में लगे रहते हैं और अन्य शिक्षको द्वारा जब इसका विरोध किया जाता है तो वह वेतन रोकने की धमकी देते हैं। साथ ही कोई भी कार्य बिना रिश्वत लिए नहीं करते ऐसे में विरोध किये जाने पर तारकेश्वर पाण्डेय द्वारा काफी प्रताड़ित भी किया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here