भारतीय किसान यूनियन ने मनाया चौधरी चरण सिंह की 118वीं जयंती

संवाददाता – राज कुमार विश्वकर्मा छपिया गोण्डा –भारत के पूर्व प्रधानमंत्री व किसानो के मसीहा चौधरी चरण सिंह का 118वी जयंती किसान दिवस के उपलक्ष्य में भारतीय किसान यूनियन गोण्डा द्वारा भोपतपुर में मनाया गया। कार्यकर्म की शुरुआत पूर्व प्रधानमंत्री के तस्वीर पर माल्यार्पण कर किया गया। भाकियू जिलाध्यक्ष दीपक वर्मा ने बताया कि चौधरी

संवाददाता – राज कुमार विश्वकर्मा

छपिया गोण्डा –
भारत के पूर्व प्रधानमंत्री व किसानो के मसीहा चौधरी चरण सिंह का 118वी जयंती किसान दिवस के उपलक्ष्य में भारतीय किसान यूनियन गोण्डा द्वारा भोपतपुर में मनाया गया। कार्यकर्म की शुरुआत पूर्व प्रधानमंत्री के तस्वीर पर माल्यार्पण कर किया गया।

भाकियू जिलाध्यक्ष दीपक वर्मा ने बताया कि चौधरी चरण सिंह किसानों के मसीहा थे। उनके द्वारा तैयार किया गया जमींदारी उन्मूलन विधेयक राज्य के कल्याणकारी सिद्धांत पर आधारित था। एक जुलाई 1952 को यूपी में उनके बदौलत जमींदारी प्रथा का उन्मूलन हुआ और गरीबों को अधिकार मिला। उन्होंने लेखापाल के पद का सृजन भी किया।

किसानों के हित में उन्होंने 1954 में उत्तर प्रदेश भूमि संरक्षण कानून को पारित कराया। वो 3 अप्रैल 1967 को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने। 17 अप्रैल 1968 को उन्होंने मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया। मध्यावधि चुनाव में उन्होंने अच्छी सफलता मिली और दुबारा 17 फ़रवरी 1970 के वे मुख्यमंत्री बने। मंडलाउपाध्यक्ष महासचिव शहजाद अली ने कहा कि चौधरी चरण देश के पहले और आखरी ऐसे नेता थे जो किसानो के हित में रहते थे।

जिलाउपाध्यक्ष मो० मैनुद्दीन खान ने कहा कि किसान विरोधी बिल काला कानून सरकार किसानो के हित में बता रही है लेकिन जब किसान उस बिल से सहमत ही नही तो फिर ऐसे कानून का क्या मतलब और सरकार को इस कानून को वापस लेने में आखिरकार क्या समस्या है।
इस मौके पर मंडलाउपाध्यक्ष संजय वर्मा दिलीप कुमार, रोहन जायसवाल, सोनू पांडेय, मैराज शेख आदि लोग मौजूद रहे।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती? सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती?
सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को चुनाव आयोग को उस याचिका पर जवाब दाखिल करने के लिये एक सप्ताह का समय...

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel

साहित्य ज्योतिष