एमपी, छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की जीत पक्की, तेलंगना और राजस्थान में जीत के बेहद करीब: राहुल गाँधी 

एमपी, छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की जीत पक्की, तेलंगना और राजस्थान में जीत के बेहद करीब: राहुल गाँधी 

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने रविवार को आगामी विधानसभा चुनावों में अपनी पार्टी की अच्छी संभावनाओं पर भरोसा जताया। राहुल ने दावा किया कि कांग्रेस मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में 'निश्चित रूप से जीत रही है', तेलंगाना में 'संभवतः जीत' रही है और उनका मानना ​​है कि वह राजस्थान में भी जीत हासिल करेगी क्योंकि वहां करीबी मुकाबले में वो 'बहुत अच्छा प्रदर्शन' करने जा रही है। उन्होंने जोर देकर कहा कि विधानसभा चुनावों में कांग्रेस का किसी भी राज्य में जीत हासिल नहीं करना सवाल से बाहर है।

राहुल गांधी ने रविवार को एक मीडिया कॉन्क्लेव में कहा- "मैं कहूंगा, हम जीतने में सक्षम होंगे। ऐसा लग रहा है। वैसे, भाजपा भी आंतरिक रूप से यही कह रही है।'' इस साल के अंत में मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान, तेलंगाना और मिजोरम में विधानसभा चुनाव होने हैं। कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने इस बात पर जोर दिया कि विपक्ष एक साथ काम कर रहा है और भाजपा "2024 के लोकसभा चुनावों में आश्चर्यचकित रह जाएगी।" उन्होंने कहा - "अभी देश ऐसी स्थिति में ढल गया है, जहां भाजपा मीडिया को नियंत्रित करती है।

ऐसा मत सोचिए कि विपक्ष जवाब देने में सक्षम नहीं है, हम एक साथ काम कर रहे हैं। हम भारत की 60 प्रतिशत आबादी हैं। भाजपा 2024 में (लोकसभा चुनाव) हैरान होने वाली है।” राहुल गांधी ने दावा किया कि कांग्रेस मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में चुनावों से पहले वहां नेरेटिव को नियंत्रित कर रही है।

अगर आप राजस्थान में लोगों से बात करेंगे कि सत्ता विरोधी लहर का मुद्दा क्या है, तो वे आपको बताएंगे कि उन्हें सरकार पसंद है।" लोकसभा में बसपा नेता दानिश अली के खिलाफ भाजपा सांसद रमेश बिधूड़ी की मुस्लिम विरोधी टिप्पणी पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए, राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि भगवा पार्टी जाति जनगणना की मांग पर लोगों का ध्यान भटकाने की रणनीति अपना रही है।

मुताबिक राहुल गांधी ने कहा- "आज आप जो देख रहे हैं, ये जेंटिलमैन बिधूड़ी और फिर अचानक निशिकांत दुबे। यह सब भाजपा जाति जनगणना के विचार से ध्यान भटकाने की कोशिश कर रही है। वे जानते हैं कि जाति जनगणना एक बुनियादी चीज है जो भारत के लोग चाहते हैं और वे इस पर वह चर्चा नहीं करना चाहते।''

हर बार जब हम कोई बात रखते हैं, तो वे हमारा ध्यान भटकाने के लिए इस तरह की चीजों का इस्तेमाल करते हैं और हमने अब सीख लिया है कि इससे कैसे निपटना है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने कर्नाटक में एक बहुत महत्वपूर्ण सबक सीखा कि भाजपा "ध्यान भटकाने और हमें अपनी कहानी गढ़ने की अनुमति नहीं देकर" चुनाव जीतती है। इसलिए, हमने अपनी कहानी गढ़ते हुए चुनाव लड़ा।" पूर्व कांग्रेस प्रमुख ने कहा, "कर्नाटक में हमने जो किया वह यह है कि हमने राज्य के लिए एक स्पष्ट नजरिया दिया। हमने कर्नाटक को सामाजिक सुरक्षा कार्यक्रम के बारे में बताया। लोग समझे।

और फिर हमने वहां नेरेटिव को नियंत्रित किया। राहुल गांधी ने कहा कि अगर आप तेलंगाना चुनावों को देखें, तो हम नेरेटिव को नियंत्रित कर रहे हैं। वहां भाजपा कहानी में कहीं भी नहीं है, वह बाहर हो गई है। भाजपा का सफाया हो गया है। वो तेलंगाना में खत्म हो गई है।" बता दें कि दक्षिण के राज्य कर्नाटक में हाल ही में कांग्रेस ने भाजपा को बुरी तरह हराया है।

2018 में जेडीएस-कांग्रेस सरकार गिराकर भाजपा ने वहां सरकार बनाई थी लेकिन 2023 का विधानसभा चुनाव वो बुरी तरह हार गई। कर्नाटक में हालांकि बजरंग बली का नारा देकर चुनाव का ध्रुवीकरण कराना चाहा लेकिन उसकी हर तरकीब फेल हो गई। अब तेलंगाना में देखा जा रहा है कि वहां कांग्रेस की बड़ी बड़ी रैलियां हो रही हैं। कांग्रेस सीडब्ल्यूसी की बैठक इसी वजह से हैदराबाद में रखी गई थी। 

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

उप चुनाव: बंगाल में भाजपा की पकड़ कमजोर, हिंदी पट्टी में कांग्रेस की बढ़त,। उप चुनाव: बंगाल में भाजपा की पकड़ कमजोर, हिंदी पट्टी में कांग्रेस की बढ़त,।
स्वतंत्र प्रभात ब्यूरो।   7 राज्यों- हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश, उत्तराखंड, तमिलनाडु, पंजाब, पश्चिम बंगाल और बिहार - की 13 सीटों...

Online Channel

साहित्य ज्योतिष