तीन दिवसीय दीपावली मेला का हुआ शुभारंभ

तीन दिवसीय दीपावली मेला का हुआ शुभारंभ

तीन दिवसीय दीपावली मेला का हुआ शुभारंभ


 स्वतंत्र प्रभात 

उरई (जालौन)-

 सरकार द्वारा छोटे छोटे पटरी दुकानदारों को दस हजार रुपए का लोन दिये जाने के बाद उन दुकानदारों को अपने उत्पाद बेचने के लिए त्यौहारी सीजन में बाजार उपलब्ध कराने हेतु सरकार के निर्देशन में तीन दिवसीय दीपावली मेला का शुभारंभ गुरुवार की स्थानीय एसआरपी इंटर कॉलिज के मैदान में किया गया पालिकाध्यक्ष डॉ सरिता वर्मा, प्रभारी अधिशासी अधिकारी व एसडीएम अंकुर कौशिक एवं क्षेत्रीय भाजपा विधायक मूलचंद्र निरंजन के पुत्र युवा नेता आशु निरंजन ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलन कर व फीता काटकर किया। मेले में आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों से लेकर पालिका कर्मियों, सरकारी खाद बीज भंडार के कर्मचारियों, स्वयं सहायता समूह की महिलाओं, स्वास्थ्य विभाग के कर्मियों के अतिरिक्त रेहड़ी/पटरी दुकानदारों ने अपने अपने स्टॉल लगाये।स्टॉल पर सरकारी कर्मचारी शासन द्वारा संचालित विभागीय योजनाओं की जानकारी दे रहे थे वहीं रेहड़ी पटरी दुकानदार व स्वयं सहायता समूह की महिलाएं हस्तनिर्मित सामानों की बिक्री कर स्वरोजगार हेतु लोगों को जागरूक कर रहीं थीं।

मेले के आयोजन को लेकर पालिकाध्यक्ष व आशु निरंजन ने कहा कि शासन की मंशा के अनुरूप स्वनिधि योजना के लाभार्थी रेहड़ी पटरी दुकानदारों की आमदनी बढ़ाने के लिए उन्हें एक प्लेटफॉर्म उपलब्ध कराया गया है।स्वयं सहायता समूह तथा हस्तशिल्प कामगारों को रोजगार प्रोत्साहन हेतु दीपावली मेला एक सुनहरा अवसर है।मेले के प्रथम दिन सरस्वती बालिका विद्या मंदिर मंडी परिसर, नाथूराम पुरोहित बालिका इंटर कॉलिज व सद्गुरु धाम इंटर कॉलिज चाँदनी की छात्राओं ने सांस्कृतिक मंच पर लोक संस्कृति से परिपूर्ण रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किये।इस दौरान भाजपा नगर अध्यक्ष सुनील लोहिया, सभासद बादाम कुशवाहा, रवि वर्मा,जाहिद सिद्दीकी, भाजपा पिछड़ा वर्ग मोर्चा के जिलाध्यक्ष महेंद्र सोनी, प्रधानाचार्या माधुरी पहारिया, सीताराम प्रजापति, बृजबल्लभ सेंगर आदि उपस्थित रहे।संचालन शिक्षक संजय सिंघाल ने किया गौरतलब हो कि तीन दिवसीय मेले के तहत प्रतिदिन दोपहर 12 से शाम 7 बजे तक स्ट्रीट वेंडर्स अपने उत्पादों या अन्य सामानों को बेचेंगे। इस मेले में एक सांस्कृतिक मंच भी होगा जिस पर क्षेत्रीय संस्कृति को बढावा देने के उद्देश्य से लोकक्रीडा, लोकगीत, लोक संस्कृति से जुड़ी बिधाओं, नुक्कड़ नाटक आदि की प्रस्तुतियां दे सकेंगे। सरकारी तंत्र और जनप्रतिनिधि इस मंच का उपयोग सरकारी उपलब्धियों और योजनाओं की जानकारी देने के लिए कर सकेंगे। इसमें स्वयं सहायता समूहों से जुड़ी महिलाएं भी अपने उत्पाद बेचने के लिए स्टाल लगाएंगी।
 

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel