नाबालिग बालिका के साथ बलात्कार, पांच महीने की गर्भवती बनी 14 वर्षीय नाबालिग

महराजगंज। बलात्कार से संबंधित देश में कानून कितना भी सख्त हो लेकिन दुष्कर्म का मामले कम होने का नाम नही ले रहा है। यहां एक 14 वर्षीय नाबालिग लड़की 5 महीने की गर्भवती है


स्वतंत्र प्रभात

निचलौल, महराजगंज। बलात्कार से संबंधित देश में कानून कितना भी सख्त हो लेकिन दुष्कर्म का मामले कम होने का नाम नही ले रहा है। यहां एक 14 वर्षीय नाबालिग लड़की 5 महीने की गर्भवती है जिसका खुलासा उस समय हुआ जब तबीयत बिगड़ने पर परिजन उसे अस्पताल ले गए। जहां डॉक्टर ने अल्ट्रासाउंड रिपोर्ट देखकर और जांच कर बताया कि उनकी बेटी लगभग 5 माह की गर्भवती है। इतना सुनते ही परिजनों के होश उड़ गये फिर बेटी ने बताई अपने साथ हुए हैवानियत की पूरी घटना। पीड़िता की तहरीर पर एवं पुलिस अधीक्षक के आदेश पर मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश की जा रही है। यह सनसनी खेज मामला निचलौल थानाक्षेत्र के एक गांव का है।

जहां पीड़िता के पिता ने पुलिस को तहरीर देते हुए बताया कि उसकी 14 वर्षीय बेटी करीब पांच महीने पहले अकेले टहलने गई थी। इस दौरान चार युवकों ने उसकी बेटी का मुंह बंद कर सुनसान जगह लेकर चले गए, उसके बाद चारों ने बारी-बारी से सामूहिक दुष्कर्म किया और चारो आरोपी ने घटना के बारे में किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी भी दिए। जिससे उनकी बेटी डर गई और घटना के बारे उसने किसी को भी नहीं बताया। अब पांच महीने बाद जब उसकी अचानक तबीयत बिगड़ी तो उसे अस्पताल ले गए। पीड़िता के पिता ने बताया कि अस्पताल के जांच में पता चला कि उनकी बेटी के गर्भ में बच्चा है, आरोप है

कि इस मामले में बेटी को लेकर थाने पहुंच कर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की लेकिन न्याय नहीं मिला। लोकलज्जा के भय से पीड़ित ने मामले को छिपाए रखा अब जब वो गर्भवती हो गई और परिजनों को मामले की जानकारी हुई तो न्याय के लिए थाने पहुंचे जहां से उचित कार्रवाई न होता देख पुलिस अधीक्षक महराजगंज से न्यायोचित कार्रवाई की मांग की। इस संबंध में पुलिस अधीक्षक प्रदीप गुप्ता ने बताया कि मामले की जानकारी मिलते ही पीड़िता के पिता की तहरीर पर चार नामजद आरोपियों के खिलाफ बलात्कार एवं अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है। आरोपियों के विरुद्ध सख्त से सख्त कार्यवाही की जाएगी।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती? सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती?
सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को चुनाव आयोग को उस याचिका पर जवाब दाखिल करने के लिये एक सप्ताह का समय...

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel

साहित्य ज्योतिष