परियोजना प्रमुख ने महोबा में सुगंधित फसलों की खेती का किया दौरा

परियोजना प्रमुख ने महोबा में सुगंधित फसलों की खेती का किया दौरा

परियोजना प्रमुख ने परियोजना सहायक एवं कृषक के उत्कृष्ट कार्य  को जमकर सराहा


 स्वतंत्र प्रभात 
 


महोबा । सीएसआइआर भारतीय समवेत औषध संस्थान जम्मू के वैज्ञानिक एवं परियोजना प्रमुख डॉ सभाजीत ने महोबा जिले का दौरा किया जिससे उन्होंने परियोजना सहायक निपुण कुमार पांडे एवं ग्राम मामना के किसान चंद्रभूषण राजपूत के कार्य की जमकर सराहना की चंद्रभूषण राजपूत सीएसआइआर आईआईआईएम जम्मू की 

किस्म रोजाघास एवं लेमन घास के साथ-साथ  सागौन आम नींबू और आंवला की अंतर फसली पद्धति के तहत दोहरा मुनाफा कमा रहे हैं एवं राजपूत माइक्रो स्प्रिंकलर विधि से सिचाई करते हैं जिससे कम पानी में आसानी से सिंचाई हो जाती है और जिससे पानी की बचत होती है।

 डॉ सभाजीत ने विभिन्न गांवों का भ्रमण किया एवं किसानों की समस्याओं का निदान किया एवं सुगंधित फसलों की बारीकियां बताई  एवं बताया किसान कैसे कम लागत में सुगंधित फूलों की खेती से अधिक लाभ प्राप्त कर सकते हैं एवं   आसपास के किसानों को ग्राम मामना में चंद्र भूषण राजपूत के कृषि मॉडल को दिखाया और सुझाव दिया कि ऐसी कृषि पद्धति की मदद से किसान  कमाई को दोगुना कर सकते हैं। 

एवं किसानों को एरोमा मिशन के तहत जागरूकता कार्यक्रम किया एवं उत्सुक कुछ किसानों को पौध सामग्री भी वितरित की। परियोजना सहायक निपुण कुमार पांडे ने आसपास से आए किसानों के समक्ष सीएसआइआर आईआईआईएम जम्मू के द्वारा स्थापित आसवन इकाई से आसवन की क्रिया को करवाया और दिखाया कि कैसे तेल प्राप्त करते हैं जिसको देखकर किसानों में काफी उत्सुकता दिखी।
 

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel