शिक्षा विभाग द्वारा कराया जा रहा है मानक विहीन भवन का निर्माण

शिक्षा विभाग द्वारा कराया जा रहा है मानक विहीन भवन का निर्माण

मानक विहीन विद्यालय के प्रति जांच व कार्रवाई ना होने से अभिभावकों में आक्रोश


स्वतंत्र प्रभात 



रामसनेहीघाट बाराबंकी शिक्षा क्षेत्र बनीकोंडर के प्राथमिक विद्यालय कुर्मियान बठौली में पुरानी कक्षों के भवनों के जर्जर होने की दशा में नये कक्ष का निर्माण कार्य में कई जा रहे मानक बिहीन निर्माण से जहा बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है वही शिक्षा विभाग के उच्चाधिकारियों द्वारा बनाये जा रहे मानक बिहीन विद्यालय के प्रति कोई जांच व कार्यवाही न होने से अभिभावकों में आक्रोश देखा जा रहा है। 


      प्राप्त जानकारी के मुताबिक विकास खण्ड बनीकोडर के कुर्मियान बठौली प्राथमिक विद्यालय के भवन र्निमाण मे प्रधानाध्यापक के द्वारा मानकों को दरकिनार कर नींव का र्निमाण करवाया जा रहा है।इतना ही नही नींव मे बिना मौरंग के केवल बालू व नाम मात्र की सीमेंट डालकर र्निमाण हो रहा हैं।

ग्रामीणों का कहना है कि प्रधानाध्यापक गांव के दबंगों के पास उठता बैठता रहता है जिससे दबंगों के अनुसार विद्यालय में कार्य करता है।हेडमास्टर अनीश वर्मा की कार्यशैली इतनी

निंदनीय है कि बयां नही की जा सकती उन्हीं दबंगों के घर रात्रि विश्राम करना विद्यालय देर से आना जल्दी जाना ये मास्टर साहब के रोटीन मे शामिल है।

गांव के अराजक तत्वों के साथ गंवई राजनीति में हाथ मिलाना ये साहब का जलवा है।आखिर हो भी क्यों न साहब के  मंत्री,बीएसए सब मुट्ठी में रहते हैं।ऐसे में यदि इस भ्रष्टाचार का निवारण न हुआ तो बच्चों के भविष्य को साहब धूल मे मिलाकर ही छोडेंगे।यद्यपि विद्यालय के कक्ष का र्निमाण इसी तरह चलता रहा तो विद्यालय परिसर मे शिक्षा ग्रहण कर रहे सैकडों बच्चों की जान भी जा सकती।


नींव से कमजोर बिलडिंग कभी भी धराशायी हो सकती है।एक तरफ हमारे राज्य व केंद्र की सरकारें देश की प्राथमिक शिक्षा की दशा व दिशा बदलने के लिए तरह तरह की योजनाएं चला रही हैं।व विद्यालयों को स्वर्ग बनाना चाह रही हैं।सूबे के मुख्यमंत्री  योगी आदित्यनाथ कायाकल्प योजना के तहत प्रा.विद्यालयों को मल्टीस्टार बनाने का सपना देख रहे हैं।तो वहीं भ्रष्ट अधिकारी व प्रधानाध्यापक बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने से बाज नहीं आ रहे हैं।अपनी कमाऊ-खाऊ नीति के आगे सरकार के सारे अरमानों पर पानी फेर रहे हैं।


    हम आपको बताते चले कि पूरा मामला तहसील रामसनेहीघाट क्षेत्र के बनीकोंडर शिक्षा क्षेत्र का है।जहाँ विद्यालय र्निमाण मे की जा रही धांधले बाजी व प्रधानाध्यापक की कार्यशैली से तंग आकर ग्रामीणों ने मीडिया के माध्यम से अपनी आवाज उठायी थी तो खण्ड शिक्षाधिकारी ने कार्यवाही व गुडवत्ता पूर्ण र्निमाण कराने का अश्वासन दिया था।परन्तु भ्रष्ट अधिकारियों के तंत्र के सब फेल नजर आ रहा है।


कार्यवाही के नाम पर रिजल्ट शून्य है।इस ब्लॉक में शिक्षा व कार्य रामभरोसे चल रहा है । इस सम्बंध में जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी द्वारा मामले को सज्ञान में लेकर जांच व उचित कार्यवाही किये जाने की बात कही है।


 

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel