संचारी रोग नियंत्रण हेतु जनपद में 18 अक्टूबर से 01 नवंबर तक चलेगा दस्तक अभियान,

संचारी रोग नियंत्रण हेतु जनपद में 18 अक्टूबर से 01 नवंबर तक चलेगा दस्तक अभियान,

18 अक्टूबर से 17 नवंबर तक चलेगा संचारी रोग नियंत्रण हेतु विशेष अभियान


हमीरपुर-

   जनपद में 18 अक्टूबर से 17 नवंबर 2021  तक चलने वाले संचारी रोग नियंत्रण अभियान एवं 18 अक्टूबर से 01 नवंबर 2021  तक चलने वाले दस्तक अभियान के तृतीय  चरण की तैयारियों के दृष्टिगत अन्तर्विभागीय समन्वय समिति की एक आवश्यक बैठक जिलाधिकारी डॉ ज्ञानेश्वर त्रिपाठी की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में सम्पन्न हुई।
     बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि वर्तमान सीजन में वेक्टर जनित बीमारियों के फैलने बढ़ने की संभावना बढ़ जाती है 

अतः वेक्टर जनित रोगों मलेरिया ,डेंगू ,चिकनगुनिया ,फाइलेरिया, जेई/एईएस , कालाजार आदि के  प्रभावी रोकथाम के दृष्टिगत 18 अक्टूबर से 17 नवंबर  तक चलने वाले संचारी रोग नियंत्रण अभियान को व्यापक पैमाने पर चलाया जाए तथा अभियान को सकुशल संपन्न कराए जाने के उद्देश्य में ग्रामीण एवं नगरीय क्षेत्रों में अभियान चलाकर साफ सफाई कराई जाए । कहीं पर जलभराव आदि की समस्या ना होने पाए इस पर विशेष ध्यान दिया जाए ।उन्होंने कहा कि समय-समय पर नियमित रूप से फागिंग कराई जाए तथा एंटी लारवा आदि का छिड़काव कराया जाए ।

 नाले नालियों से सिल्ट सफाई कराकर सिल्ट का समुचित निस्तारण कराया जाए ।  प्लास्टिक कचरे को इकट्ठा कर उसका अच्छे ढंग से डिस्पोज किया जाए ताकि  वाटर लॉगिंग न होने पाए। उन्होंने कहा कि सूखा व गीला कचरा को अलग-अलग डिस्पोज कराने की व्यवस्था की जाए । उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा संचारी रोगों के नियंत्रण के दृष्टिगत सभी जरूरी उपचार एव दवाओं आदि की जरूरी व्यवस्था रखी जाए तथा सभी स्वास्थ्य केंद्रों पर दवाओं की पर्याप्त उपलब्धता रहे। 


जहां कहीं भी संक्रामक रोग के केस प्राप्त हो वहां पर तत्काल टीम द्वारा एक्टिव होकर सैम्पलिंग एव उसके रोकथाम हेतु अन्य जरूरी कार्य किया जाए। पूर्व में जो गांव इन संक्रामक रोगों से प्रभावित हुए हैं उन पर विशेष रूप से अभियान चलाकर साफ-सफाई सैनिटाइजेशन एवं एंटी लारवा का छिड़काव कराया जाए ।उन्होंने कहा कि निगरानी समितियों द्वारा ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में संचारी रोगों के नियंत्रण के दृष्टिगत सक्रिय होकर कार्य किया जाए निगरानी समितियों के सदस्यों की इसके रोकथाम में महत्वपूर्ण भूमिका है। उन्होंने कहा कि संचारी रोग से नियंत्रण में सभी संबंधित विभागो द्वारा अपने दायित्व का ठीक ढंग से निर्वहन किया जाए।

    दस्तक अभियान की समीक्षा में जिलाधिकारी ने कहा कि 18 अक्टूबर से 01 नवंबर तक चलने वाले दस्तक अभियान में टीमें डोर टू डोर जाकर सर्वे करें।  सर्वे का कार्य आशा आंगनवाड़ी तथा अन्य के द्वारा किया जाएगा। कहा कि सर्वे में कोई भी घर छूटने ना पाए। उन्होंने कहा कि दस्तक अभियान तथा सर्वे आदि के लिए संबंधित  टीमों / कार्मिकों को भलीभांति ट्रेनिंग दी जाए।


 ज्ञात हो कि दस्तक अभियान के दौरान  डोर टू डोर सर्वे के दौरान कुपोषित बच्चों के चिन्हांकन करने का कार्य भी किया जाएगा। जिलाधिकारी ने कहा कि संचारी रोग नियंत्रण अभियान एवं दस्तक अभियान के प्रभावी रोकथाम हेतु तथा अभियान को सफल बनाए जाने हेतु ग्राउंड लेवल पर माइक्रो प्लान तैयार कर लिया जाए।  जिलाधिकारी ने कहा कि इस कार्य में निगरानी समितियां सक्रिय होकर कार्य करें । 


संचारी रोगों के नियंत्रण हेतु क्या करें, और क्या ना करें ? के बारे में छात्र-छात्राओं को जागरूक कर उन्हें अपने अभिभावकों को जागरूक करने हेतुु प्रोत्साहित करें।जिलाधिकारी ने कहा कि कोविड-19 के टीकाकरण में तेजी लाया जाए तथा दिए गए लक्ष्य को प्राप्त किया जाए। प्रतिदिन होने वाले टीकाकरण की प्रगति रिपोर्ट का पोर्टल पर शत प्रतिशत डाटा का फीडिंग का कार्य अवश्य किया जाए । 


कहा कि शतप्रतिशत स्वास्थ्य कर्मियों , पैरामेडिकल स्टाफ डॉक्टर ,आशा, आंगनवाड़ी एएनएम एवं सभी फ्रंटलाइन वर्कर्स  को कोविड के टीके की दोनों डोज लगी होनी चाहिए यह सुनिश्चित किया जाए। इस दौरान सीएमओ डॉ एके रावत, डिप्टी कलेक्टर संजीव  शाक्य, डीपीआरओ राजेंद्र प्रकाश ,जिला समाज कल्याण अधिकारी ,एसीएमओ डॉ पीके सिंह ,समस्त एमओआईसी तथा अन्य संबंधित मौजूद रहे।
 

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel