शासन द्वारा उपेक्षित बुनियादी समस्याओं से जूझता हुआ क्षेत्र पर्यटन क्षेत्र में विकसित होने की भरपूर संभावना

शासन द्वारा उपेक्षित बुनियादी समस्याओं से जूझता हुआ क्षेत्र पर्यटन क्षेत्र में विकसित होने की भरपूर संभावना

प्राकृतिक सौंदर्य हरा भरा है क्षेत्र बेरोजगारी की समस्या से हो सकता है समाधान


स्वतंत्र प्रभात 
 

प्राकृतिक सौंदर्य हरा भरा है क्षेत्र बेरोजगारी की समस्या से हो सकता है समाधान जनप्रतिनिधियों द्वारा चारागाह समझने की आदत और शासन द्वारा उपेक्षित लालगंज तहसील बुनियादी समस्याओं से जूझ ता हुआ क्षेत्र है इसमें दो ब्लॉक है क्रमशः लालगंज एवं हलिया विधानसभा 96 क्षेत्र का बहुत बड़ा भूभाग है एक भारी जनसंख्या है लेकिन देश के आजाद होने के बाद भी स्वास्थ्य शिक्षा रोजगार जीवन के सभी क्षेत्र में संघर्ष कर रहा है

एक बहुत बड़ी जनसंख्या दलितों की है राजनीतिक रूप से बहुत ही महत्वपूर्ण क्षेत्र है प्रत्येक चुनाव में इसे बहुमुखी विकास के सपने दिखाए जाते हैं चुनाव खत्म आश्वासन खत्म यह सिलसिला लगातार चलता चला आ रहा है कब बंद होगा ऊपरवाला जाने जनप्रतिनिधि जो दे सकते हैं वह दे रहे हैं आश्वासन उसी के सहारे जनता जीवन यापन कर रही है लेकिन कुदरत ने पूरी दरियादिली के साथ भरपूर सौंदर्य से नवाजा है इसके बाद में हरी-भरी वादियां हैं

अनगिनत बलखाती इठलाती अपनी धुन में गुनगुनाती है झरने हैं जो देखने वालों का दिल मोह लेती हैं दर्शक देखते ही उस भरपूर खूबसूरती में गुम हो जाते हैं थिरकने को मजबूर हो जाते हैं ऐसा ही क्षेत्र है दूर दूर तक फैली हुई पहाड़ियां प्रसिद्ध  गड़बड़ा धाम का शक्तिपीठ बरम बाबा का मंदिर और भी

दिलकश नजारे दूर-दूर तक फैले हुए हैं यदि इस क्षेत्र को पर्यटन क्षेत्र के रूप में विकसित कर दिया जाए तो इस क्षेत्र का है बहुमुखी विकास हो सकता है रोजी रोजगार से लेकर जनपद के मानचित्र में प्रदेश के मानचित्र में अंकित हो सकता है बस राजनैतिक इच्छाशक्ति और शासन से मेहरबानी की आवश्यकता है।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel