कुशीनगर : राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग ने एसपी से 5 दिन में मांगा जबाब

कुशीनगर : राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग ने एसपी से 5 दिन में मांगा जबाब

रेप पीड़िता ने आरोपी के डर से छोड़ी घर पर लिखी घर विकाउ है 


 6 वर्षीय बच्ची के साथ दुष्कर्म व परिवार के साथ मारपीट की घटना का एनसीपीसीआर के अध्यक्ष प्रियंक कानूनगो ने लिया संज्ञान पुलिस अधीक्षक कुशीनगर को नोटिस भेज 5 दिनों में मांगा जवाब

कुशीनगर, उत्तर प्रदेश।

जनपद के नेबुआ नौरंगिया थाना अंतर्गत ग्राम रामपुर खुर्द में एक वर्ष पूर्व में एक 6 वर्षीय बच्ची के साथ पड़ोस के ही युवक द्वारा दुष्कर्म किया गया था इस मामले में पीड़ित परिवार की शिकायत पर नेबुआ नौरंगिया पुलिस ने कार्यवाही करते हुए।

मुकदमा दर्ज कर आरोपी को जेल भेज दिया था। पीड़ित बच्ची की मां का आरोप है की मिथुन कुछ समय पहले जेल से जमानत पर बाहर आ गया है और अपने सहयोगियों के साथ मिलकर आए दिन मेरे साथ मारपीट करने के साथ ही मुकदमा वापस लेने व सुलह समझौता करने का दबाव बनाता है नहीं मानने पर मेरी अन्य बच्चियों के साथ भी वैसा ही दुष्कर्म करने की धमकी देता है। जिसकी लिखित शिकायत मैंने बीते 28 नवम्बर 2021 नेबुआ नौरंगिया थाने में किया था। लेकिन पुलिस ने इस विषय मे कोई कार्यवाही नही किया, आरोपियों के डर से बच्चियां स्कूल जाना बंद कर दी हमने घर बेचने का नोटिस चस्पा कर घर छोड़ दिया।

महिला ने कही हमारी मांग है मिथुन व उसके  सहयोगियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जेल भेजा जाए,और मेरी व मेरी बच्चियों की सुरक्षा का प्रबंध किया जाए तभी हम पुनः अपने घर जाएंगे।

इस मामले में वर्ल्ड यूथ सोशल ऑर्गेनाइजेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष शशिकांत मिश्रा ने राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग के अध्यक्ष प्रियंक कानूनगो से लिखित शिकायत कर मामले में तत्काल हस्तक्षेप व पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने का निवेदन किया था। 

इस मामले का में राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के अध्यक्ष प्रियंक कानूनगो जी ने संज्ञान लिया प्रियंक कानूनगो जी के निर्देश पर राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने बीते 6 दिसंबर 2021 को पुलिस अधीक्षक कुशीनगर को एक नोटिस जारी कर 5 दिनों के अंदर की गई कार्यवाही के साथ ही एफ०आई०आर दर्ज कर अन्य सभी साक्ष्यों के सहित रिपोर्ट भेजने को कहा है।

शशीकांत मिश्रा बताते हैं कि आप उस पीड़िता व उसके परिवार की मनोदशा समझ सकते है जो पिछले एक वर्षों से न्याय के लिए संघर्ष कर रही है।

मैंने इस मामले में पुलिस अधीक्षक कुशीनगर से लेकर एडीजी गोरखपुर तक को अवगत कराते हुए तत्काल कार्यवाही की मांग की थी लेकिन मेरी शिकायत को वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों द्वारा गंभीरता पूर्वक नहीं लिया जा रहा था जिसको देखते हुए मैंने राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के अध्यक्ष प्रियंक कानूनगो जी से शिकायत दर्ज कराते हुए कार्यवाही का अनुरोध किया था आयोग के अध्यक्ष प्रियंक कानूनगो ने कार्यवाही का आश्वासन दिया है।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

अंतर्राष्ट्रीय

चीन में बढे कोरोना संक्रमण के मामले, सरकार ने लॉकडाउन की अवधि को बढ़ाया चीन में बढे कोरोना संक्रमण के मामले, सरकार ने लॉकडाउन की अवधि को बढ़ाया
स्वतंत्र प्रभात  चीन में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर लॉकडाउन की अवधि को बढ़ा दिया गया है।...

Online Channel