केदारपुर निवासी शख्स ने खोली तहसील के व्यवस्था की पोल

केदारपुर निवासी शख्स ने खोली तहसील के व्यवस्था की पोल

 इसके अलावा लापरवाही और मनमानी का भी खुला खेल देखने को मिलता है। लेकिन इन लापरवाह लोग का मन और तब बढ जाता है


 

संतोष तिवारी (रिपोर्टर)

भदोही।

सरकार भले ही भ्रष्टाचार और कुशासन को समाप्त होने की बात करती है लेकिन यह बाते केवल कहने और सुनने की बात है जबकि असलियत यह है कि आज भी पिछली सरकारों की तरह घूस और सुविधा शुल्क का जमाना कायम है। बिना सुविधा शुल्क लिए जिम्मेदार काम करना जैसे पाप समझते है।

इसके अलावा लापरवाही और मनमानी का भी खुला खेल देखने को मिलता है। लेकिन इन लापरवाह लोग का मन और तब बढ जाता है जब आम लोग इनके द्वारा किये जा रहे मनमानी पर मौन साधे रहते है लेकिन समाज में कुछ ऐसे लोग है जो बिना डरे इनके खिलाफ अकेले भी आवाज उठाते है। और लोगो को भी चाहिए कि गलत कार्य और लोगों के खिलाफ अपनी आवाज बुलन्द करनी चाहिए।एक ऐसा ही नजारा वृहस्तिवार को भदोही जिले के ज्ञानपुर तहसील में देखा गया जहां गोपीगंज क्षेत्र के केदारपुर निवासी संतोष रामचन्दर तिवारी अपना मूल निवास पत्र बनवाने के लिए कई दिनों से तहसील का चक्कर  लगा रहे है।

वृहस्तिवार को भी संतोष रामचन्दर तिवारी तहसील गये थे और कुछ देर बाद संतोष को लघुशंका लगी जब संतोष ने तहसील के कर्मचारी से वाॅशरूम के बारे में पूछा तो कर्मचारी ने एसडीएम कार्यालय के पश्चिमी तरफ बने महिला वाॅशरूम की तरफ इशारा कर दिया। इससे नाराज होकर संतोष रामचन्दर तिवारी ने तहसील के एक कर्मचारी से पुरूष वाशरूम के बारे में पूछा लेकिन वे लोग महिला वाॅशरूम को ही दिखाते रहे। लेकिन जब संतोष पुरूष वाॅशरूम के बारे में अड़े रहे तब कर्मचारी ने संतोष को पुरूष वाॅशरूम का चाभी दिया।

जब वाॅशरूम खुला तो वहां उस कमरे को भंडार कक्ष बनाया गया है उसमें कुर्सियां और अन्य सामग्री रखी गई है। हालांकि संतोष रामचन्दर तिवारी ने लघुशंका से निवृत्त हुए। और यह देखकर तहसील परिसर के लोग भी तहसील की इस व्यवस्था पर सवाल भी उठाये। और संतोष की बातों को जायज बताया।अब तहसील प्रशासन पर यह सवाल उठता है कि जो वाॅशरूम महिलाओं के लिए बनाया गया है उसमें पुरूषों को क्यों भेजा जाता है? और पुरूष वाॅशरूम में ताला क्यों लगा रहता है? आखिर इस व्यवस्था को लेकर एसडीएम क्यों नही लेते है संज्ञान। आखिर इस तरह की लापरवाही क्यों की जा रही है? महिलाओं के लिए बने वाॅशरूम में पुरूषों का जाना कितना उचित? जिले में जिम्मेदारों की वजह से हो रही लापरवाही और मनमानी का विरोध आम लोगो को खुलकर करना जरूरी है।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel