यूरिया खाद पाने को उमड़ी किसानों की भीड़, अनुशासन बनाने पहुंचे होमगार्ड ड्यूटी से हुए नदारद

अमेठी। किसानो को समय से यूरिया नही मिल पा रही है और धान की फसल अब गलेथ रही है। यूरिया न मिली तो किसान के फसल उत्पादन पर गहरा असर पड़ेगा। जो यूरिया कृषक सेवा केन्द्र को मिल भी गयी है वह किसानों की भीड़ के आगे ऊॅट के मुंह में जीरा साबित हो रही

अमेठी।  किसानो को समय से यूरिया नही  मिल पा रही है और धान की फसल अब गलेथ रही है। यूरिया न मिली तो किसान के फसल उत्पादन पर गहरा असर पड़ेगा। जो यूरिया कृषक सेवा केन्द्र को मिल भी गयी है वह किसानों की भीड़ के आगे ऊॅट के मुंह में जीरा साबित हो रही है।

अमेठी में शुक्रवार को किसानों की भीड़ आयी और बैरंग लौट गयी। देर शाम यूरिया केन्द्र पर आयी और शनिवार को सुबह पांच बजे से किसान धीरे-धीरे यूरिया के लिए जमा हुए और प्रातः 10 बजे भीड़ 600 किसानों की रही दोपहर में डेवढ़ा हो गयी। किसान संजय कुमार तिवारी, दयाराम यादव, राम सजीवन यादव, सुखराम, आदि बताते है कि लाइन लगी थी और नाम भी रजिस्टर में दर्ज हो गया। महिलाओं को यूरिया दे रहे थे जिनकी संख्या बढ गयी किसानों ने एतराज जताया।

बढईपुर के श्याम शुक्ला ने बताया युरिया मिल पाना मुश्किल है। पुलिस नही आयी होमगार्ड को भेजी है वे भी भीड़ में गायब हो गये। जब बात नही बनी तो होमगार्ड थाना कोतवाली अमेठी दिन के 1 बजे लौट आये। कृषक सेवा केन्द्र प्रभारी अमेठी सुभाषिनी श्रीवास्तव ने बताया कि किसानों की भीड़ को देखते हुए मैंने उपजिलाधिकारी अधिकारी को पत्र दिया कि भीड़ 600 किसानों की लगी है जिस पर उन्होंने एसएचओ को कार्यवाही के लिए आदेश दिया। उन्होंने पुलिस के बजाय होमगार्ड के जवानों को भेजा, 1 बजे तक युरिया खाद का वितरण होना था लेकिन भीड़ ने वितरण पर धमाल मचा दिया। इस कारण यूरिया नहीं बंट पाई।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel

साहित्य ज्योतिष

संजीव-नी।
संजीव-नीl
संजीव-नी।
संजीव-नी।
संजीवनी।