विश्व गौरैया दिवस मनाया गया

विश्व गौरैया दिवस मनाया गया

विश्व गौरैया दिवस मनाया गया


जरवा/बलरामपुर


वनरेंज जनकपुर कार्यालय परिसर में वनक्षेत्रा अधिकारी अमरजीत के नेतृत्व में विश्व गौरैया दिवस का आयोजन किया गया जिसमें गौरैया के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए लोगों को जागरूक करते हुए कहा कि प्रत्येक वर्ष 20 मार्च को विश्व गौरैया दिवस के रूप में मनाया जाता है 

गौरैया के संरक्षण में व उनके बचाव की जानकारी देते हुए लोगों को जागरुक किया घर आंगन में गौरैया की चाह चाहती की आवाज को सुनने को नहीं मिल रहा है वही धीरे धीरे गौरैया की विलुप्त होने की कगार पर है और तेजी से गौरैया की संख्या में काफी गिरावट आ रही है जो प्राकृतिक के लिए चिंताजनक है इसी वजह से गौरैया के संरक्षण के उद्देश्य को लेकर गौरैया दिवस प्रत्येक वर्ष मनाया जाता है

 गौरैया के विलुप्त होने से खेतों में लगी फसलों को कीटो द्वारा काफी नुकसान किया जा रहा है अगर गौरैया को विलुप्त होने से बचाया जाता है तो किसान के फसल में कीड़ों को मारने के लिए किसान कीटनाशक दवाइयों का उपयोग करते है तो इनके लिए घातक है जिससे इंसानों को मिलने वाली है अनाज सब्जियां सभी कीटनाशक दवाइयों की वजह से अनेक बीमारियों को दावत दे रही है

 गौरैया ही नहीं प्राकृतिक के द्वारा बनाए गए संतुलन बिगड़ता है और इंसानी जीवन पर इसका असर पड़ता है यह लगभग हर घर की छतों पर अपना घोंसला बना लेती है आज शायद ही कहीं घोसला देखने को मिलता ही नहीं है गौरैया की लगातार घटती संख्या को लेकर इंसान ही जिम्मेदार है वही मोबाइल रेडिसन की वजह से मादा गौरैया की प्रजनन क्षमता कम होने की भी बात सामने आ रही हैं धरती पर अगर इंसानों का जीवन बचाना है 

तो उसे आधुनिकरण के साथ-साथ प्रकृति के संरक्षण के लिए भी उतने ही जिम्मेदारी है वही वन क्षेत्राधिकारी अमरजीत प्रसाद ने बताया कि विश्व वानिकी के दिवस पर लोगों को अधिक से अधिक वृक्ष रोपण करने के साथ पक्षी को पीने के लिए जल संरक्षण के बारे में लोगों को जागरूक किया गया इस अवसर पर शशिकांत शुक्ला वन दरोगा, तरुण तिवारी वन दरोगा, मनीष श्रीवास्तव कार्यालय अधीक्षक,अमित शाश्वत वनरक्षक, शकील एवं ग्रामीण के लेस राम तीरथ सगीर अहमद सहित काफी संख्या में लोग गोष्ट में शामिल हुए

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel