कुशीनगर : मनमोहक झाकियों का लुत्फ़ उठाने आये दर्शको का नपाध्यक्ष विनय ने किया स्वागत

कुशीनगर : मनमोहक झाकियों का लुत्फ़ उठाने आये दर्शको का नपाध्यक्ष विनय ने किया स्वागत

कुशीनगर। जन्माष्टमी के दो दिन बाद शुक्रवार को निकलने वाले डोल मेले को लेकर नपाध्यक्ष विनय जायसवाल के द्वारा समस्त डोल समितियों के साथ बैठक कर उनकी आवश्यकताओं और सुविधाओं के बारे में जानकारी लेने व नगरपालिका द्वारा व्यवस्था सुनिश्चित करने के बाद पालिकाध्यक्ष ने डोल मेले में सभी अखाड़ों के बीच अपनी उपस्थिति दर्ज की। बता दें कि नपा द्वारा पहले ही डोल झाँकियों वाले प्रमुख मार्गों की विशेष साफ सफाई, बिजली व्यवस्था के साथ पानी टैंकर की व्यवस्था भी चाक चौबंद कर दी गयी थी। साथ ही धूल मिट्टी की समस्या से बचने के लिए टैंकर से पानी भी गिरवाया जाता रहा। डोल मेले के दिन नपा के जलकल परिसर में सभी भक्तजनों और श्रद्धालुओं के लिए चाय, जलपान के साथ मेडिकल किट की व्यवस्था भी रही। अपने सम्बोधन में पालिकाध्यक्ष विनय जायसवाल ने बताया कि डोल मेला पूरे उत्तर प्रदेश में कुशीनगर जनपद मुख्यालय पडरौना की विशेष पहचान के रूप में जाना जाता है जिसमें भगवान श्री कृष्ण की विशेष झाँकी के अलावा तरह तरह की मनमोहक झाँकियों के प्रदर्शन के साथ ही युवा खिलाड़ी अपनी कला का प्रदर्शन करते हुए अखाड़ा खेलते हैं। उन्होंने बताया कि इस तरह के स्थानीय त्योहार जनपद के विभिन्न क्षेत्रों से हजारों की संख्या में ठेले, खोमचेवाले और अन्य स्ट्रीट वेंडर्स की अर्थव्यवस्था का बड़ा स्रोत साबित होते हैं। साथ ही उन्होंने बताया कि नगर के सबसे बड़े पर्व में से एक डोल मेले में एक लाख से अधिक लोगों ने प्रत्यक्ष भागीदारी दर्ज की साथ ही उन्होंने मेले के सफल आयोजन के लिए आयोजन समिति, नपाकर्मियों, पुलिस प्रशासन सहित आमजन को धन्यवाद भी ज्ञापित किया उक्त मौके पर उनके साथ अध्यक्ष प्रतिनिधि मनीष जायसवाल के अलावा एडवोकेट अरविंद कुशवाहा, रितेश जायसवाल, अंशु जायसवाल, संतोष चौहान, आद्या राय, राजेश जायसवाल, भास्कर शर्मा, आर्यन शर्मा, अनूप गोंड, सुनील चौहान,ब्रजेश शर्मा आलोक चौबे ललित जायसवाल आकाश वर्मा अमित तिवारी राहुल सिंह गौरब रौनियार मनोज केसरी पवन जायसवाल, राजेश कुशवाहा प्रदीप कुशवाहा के अलावा कार्यकर्ता गण व नपा के कर्मचारी उपस्थित रहे।

 

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel

साहित्य ज्योतिष