भारत ने मालदीव को दो समुद्री एंबुलेंस भेंज दिया दोस्ती का संदेश

भारत ने मालदीव को दो समुद्री एंबुलेंस भेंज दिया दोस्ती का संदेश

स्वतंत्र प्रभात।

भारत ने मालदीव के साथ रिश्तों की मजबूती देते हुए बड़ा कदम उठाया है। भारतीय रक्षा मंत्रालय ने ने दोनों देशों के सहयोग के समझौतों के तहत मालदीव को 2 समुद्री एंबुलेंस भेंट दी है। भारतीय रक्षा मंत्रालय ने बताया कि यह हैंडओवर भारतीय अनुदान सहायता योजना के अंतर्गत किया गया है। मंत्रालय ने  बताया है कि समुद्री एंबुलेंस की खरीद के लिए कुल 6.2 मिलियन रूफिया आबंटित किए गए थे।

इस प्रोजेक्ट का मुख्य उद्देश्य मालदीव में हेल्थ केयर डिलीवरी सिस्टम को मजबूत करना है। इमरजेंसी की स्थिति में मरीजों को इंटर आईलैंड यात्राको पूरा करना है। मालदीव को ये समुद्री एंबुलेंस भारतीय विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर की मालदीव यात्रा के दौरान दिए गए हैं। मालदीव के विदेश मंत्री अब्दुल्ला शाहिद ने भारत के इस कदम के प्रति आभार व्यक्त किया। उन्होंने ट्वीट कर जानकारी दी कि हाई इम्पैक्ट कम्युनिटी डेवलपमेंट (HICDP) कार्यक्रम के तहत समुद्री एंबुलेंस की खरीद की गई है।

विदेश मंत्री एस जयशंकर की यात्रा के बीच भारत और मालदीव ने 3 समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए।  विदेश मंत्री डॉ एस जयशंकर, जो 18-19 जनवरी से मालदीव की दो दिवसीय यात्रा पर हैं, उन्होंने बुधवार को तीन समझौतों (MoU) पर हस्ताक्षर किए। मालदीव के विदेश मंत्री अब्दुल्ला शाहिद ने इस बारे में ट्विटर पर जानकारी शेयर की। भारत के विदेश मंत्री के रूप में द्वीप-राष्ट्र की अपनी चौथी यात्रा के दौरान, डॉ. एस जयशंकर ने सामुदायिक सशक्तिकरण, खेल इंफ्रास्ट्रक्चर और उच्च शिक्षा के क्षेत्र में समझौतों पर हस्ताक्षर किए।

इसके अलावा, भारतीय विदेश मंत्री जयशंकर ने ट्वीट किया, "भारत-मालदीव के विकास सहयोग, क्षमता निर्माण और लोगों से लोगों के संबंधों पर ध्यान देने के साथ विशेष द्विपक्षीय साझेदारी के पूर्ण स्पेक्ट्रम पर चर्चा करने में लगे हुए हैं।"मालदीव के डिफेंस फोर्स को समुद्री एंबुलेंस सौंपने के अलावा, यात्रा के चार प्रमुख आकर्षण मालदीव में सामुदायिक विकास परियोजनाओं पर समझौते; गढ़धू में एक खेल परिसर का विकास; मालदीव राष्ट्रीय विश्वविद्यालय और कोचीन विश्वविद्यालय के बीच एकेडमिक सहयोग थे।

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel