तीस लीटर अवैध कच्ची शराब के साथ एक अभियुक्त को किया गया गिरफ्तार

तीस लीटर अवैध कच्ची शराब के साथ एक अभियुक्त को किया गया गिरफ्तार

विधानसभा निर्वाचन-2022 को सकुशल संपन्न कराने और अपराधियों के विरुद्ध चलाये जा रहे अभियान के क्रम में थाना बिहार पुलिसएवं थाना बारासगवर पुलिस द्वारा अवैध शस्त्र बनाने की फैक्ट्री का भंडाफोड़ करते हुए एक अभियुक्त को 4 अवैध देशी बंदूक 12 बोर, 5 अवैध तमंचा विभिन्न बोर, 8 जिंदा/खोखा कारतूस विभिन्न बोर व तमंचाबनाने के उपकरण बरामद कर गिरफ्तार किया गया।


उन्नाव। विधानसभा निर्वाचन-2022 को सकुशल संपन्न कराने और अपराधियों के विरुद्ध चलाये जा रहे अभियान के क्रम में थाना बिहार पुलिसएवं थाना बारासगवर पुलिस द्वारा अवैध शस्त्र बनाने की फैक्ट्री का भंडाफोड़ करते हुए एक अभियुक्त को 4 अवैध देशी बंदूक 12 बोर, 5 अवैध तमंचा विभिन्न बोर, 8 जिंदा/खोखा कारतूस विभिन्न बोर व तमंचाबनाने के उपकरण बरामद कर गिरफ्तार किया गया। गुरुवार देर रात को रात्रि में गश्त करते समय थानाध्यक्ष बिहार व थानाध्यक्ष बारासगवरआपस में अपराध की रोकथाम हेतु व अपराधियों के विरूद्ध कार्यवाही करने हेतु विचार विमर्श कर ही रहे थे कि जरिये मुखबिर खास सूचना प्राप्त हुई कि एक व्यक्ति कलानी मोड़ से चैनपुर जाने वाले रास्ते में हनुमान खेड़ा के पास स्थित बबूल के जंगलों में नाजायाज तमन्चा बनाने का काम कर रहा है। 

उक्त तमन्चों की भारी माँग में आपूर्तिकर आगामी विधानसभा चुनाव में हिंसा फैलाकर चुनावी प्रकिया को प्रभावित करने का प्रयास किया जा रहा है। इस सूचना पर थानाध्यक्ष बिहारव थानाध्यक्ष बारासगवर की संयुक्त पुलिस टीम द्वारा गुरुवार और शुक्रवार को अभियुक्त रामआसरे केवट पुत्र मंगल निग्राम हरीपुर थाना सरेनीजनपद रायबरेली उम्र करीब 46 वर्ष के कब्जे से 8 अदद तमन्चें व बन्दूक निर्मित अर्ध निर्मित व शस्त्र बनाने के उपकरण आदि बरामद करगिरफ्तार किया गया। इस धन्धे में लिप्त अन्य अभिगणों की धर पकड़ । गिरफ्तारी हेतु टीम गठित कर रवाना की गयी। गिरफ्तार अभियुक्तउपरोक्त के विरूद्ध थाना बिहार में संदिग्ध धाराओ में मुकदमा पंजीकृत किया गया है।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती? सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती?
सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को चुनाव आयोग को उस याचिका पर जवाब दाखिल करने के लिये एक सप्ताह का समय...

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel

साहित्य ज्योतिष