भूख से पीड़ित लोगो को दिया राहत. खानकाहे सई दिया ने

भूख से पीड़ित लोगो को दिया राहत. खानकाहे सई दिया ने

भूख से पीड़ित लोगो को दिया राहत. खानकाहे सई दिया ने भूखो को खिलाना ही असल पूजा है फतेहपुर, शाह कस्बे में खानकाहे सई दिया (वक्फ) क़स्बा शाह से मुनसलिक तहरीके शिफा-ए-रूह के जेरे एह तेमाम मुहम्मद सईद बाबा रहमतुल्ला अलैह के आस्ताने से राहत पैकेज मुस्तहिक़ के घर जाकर तकसीम किये गये। दरगाह शरीफ के

भूख से पीड़ित लोगो को दिया राहत. खानकाहे सई दिया ने 
भूखो को खिलाना ही असल पूजा है

 फतेहपुर, शाह कस्बे में खानकाहे सई दिया (वक्फ) क़स्बा शाह से मुनसलिक  तहरीके शिफा-ए-रूह के जेरे एह तेमाम मुहम्मद सईद बाबा रहमतुल्ला अलैह के आस्ताने से राहत पैकेज मुस्तहिक़ के घर जाकर तकसीम किये गये। दरगाह शरीफ के मुतवल्ली और इदारे के मैनेजर श्री अब्दुल अलीम ने दरगाह शरीफ से अकीदत रखने वाले सभी भाइयो से अपील की है कि ऐसे वक्त में हर आदमी अपनी इंसानियत और मानवता का सबूत दे।पास पड़ोस पर नजर रखे उनकी मदत करे ताकि कही ऐसा न हो कि कोई महामारी से तो बचा रहे परन्तु भूख की मार से मर जाए, उन्होंने कहा इस महामारी  से बचने के लिए फिजिकल डिस्टेंसिंग बहुत जरूरी है, बचाव के जितने भी इस्पेक्ट हो सकते है उनको अमल में लाए डिटाल और   दूसरे लिक्वेड जो इसी वायरस से बचाव के लिए बनाये गये है, उनसे हाथों और बदन को स्वच्छ रखे तथा घर पर ही बने रहे बाहर न निकले ,इसी संकल्प के साथ ही हम इस महामारी पर विजय हासिल कर सकते है । उन्होंने कहा कि इस वक्त लोग अफवाह में न आए और हुकूमत की तरफ से जारी करदा एडवाइजरी पर अमल करे। और गाँव देहात की समाजिकता  में , जरूरत मन्दो की मदद के लिए सामने आयें और इंसानियत को सबसे ऊपर रखे। राहत पैकेज को तकसीम के वक़्त खानकाह के अराकीन व खादमीन श्री यासीन शेख,माशूक अली बरकाती,श्री प्रेमचंद्र सोनी जी ,तथा कलीम अहमद सिददीकी मौजूद रहे। क़स्बा शाह-तहरी के शिफाय – रूह की जानिब से मैनेजर श्री अब्दुल अलीम,गरीब मुस्तहिक़ को राहत पैकेज तकसीम करते हुए।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

राज्य उचित प्रक्रिया के बिना संपत्ति का अधिग्रहण नहीं कर सकता ।संपत्ति का अधिकार एक संवैधानिक अधिकार है। -सुप्रीम कोर्ट। राज्य उचित प्रक्रिया के बिना संपत्ति का अधिग्रहण नहीं कर सकता ।संपत्ति का अधिकार एक संवैधानिक अधिकार है। -सुप्रीम कोर्ट।
        स्वतंत्र प्रभात ब्यूरो।     सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को निजी संपत्ति को "सार्वजनिक उद्देश्य" के लिए राज्य के मनमाने अधिग्रहण

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel