समाधान दिवस में अनुपस्थित अधिकारियों पर गिरी डीएम की गाज

समाधान दिवस में अनुपस्थित अधिकारियों पर गिरी डीएम की गाज

- विद्युत विभाग के अधिशाषी अभियंता सहित कई लेखापालों का रोका वेतन


बांदा। 

सदर तहसील में आयोजित संपूर्ण समाधान दिवस में कुल 97 शिकायतें प्राप्त हुई। जिनमें से 7 का मौके पर निस्तारण किया गया। समाधान दिवस में गैरहाजिर रहे विद्युत विभाग के दो अधिशाषी अभियंता और 9 लेखपालों का एक माह का अग्रिम आदेशों तक वेतन रोकने के निर्देश दिए। सभी से तीन दिन के अंदर स्पष्टीकरण देने को कहा गया।

जिलाधिकारी अनुराग पटेल ने सदर तहसील के सभागार में आयोजित संपूर्ण समाधान दिवस में फरियादियों की शिकायतें सुनी। इस दौरान कुल 97 शिकायतें प्राप्त हुई। जिनमें से 7 का मौके पर निस्तारण किया गया। शेष शिकायतों के निस्तारण के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि वह प्राथमिकता के साथ शिकायतों का निस्तारण करें। थाना तहसील व ब्लाक सभी संवेदनशील होकर काम करें। 

इस दौरान अनुपस्थित रहे अधिशाषी अभियंता विद्युत वितरण खंड बाँदा व अतर्रा तथा 9 लेखपालों जिनमें जगराम सिंह, मूलचंद्र पटेल, रामकिशोर, मंजुलता, हासिम खां, बृजमोहन, गौरव सिंह, रजनी एवं रमेश कुमार यादव का माह जून का वेतन अग्रिम आदेशों तक रोकने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि संपूर्ण समाधान दिवस शासन की महत्वपूर्ण प्राथमिकता वाला कार्यक्रम है। 

इसलिए इस पर किसी भी प्रकार की लापरवाही को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के निर्देश है कि शिकायतों का निस्तारण गुणवत्ता के साथ और ज्यादा शिकायतें संज्ञान में आने पर संबंधित थाने एवं तहसील की जवाबदेही भी तय की जाएगी। जिलाधिकारी ने कहा कि मुख्यमंत्री के यह भी निर्देश है कि मंत्रीमंडल का समूह पुनरू मंडलध्जनपद दौरे पर 11 जून से आ रहे हैं। 

यह समूह विकास कार्यों के साथ-साथ कानून व्यवस्था की भी समीक्षा करेंगे और किसी भी प्रकार की लापरवाही मिलने पर संबंधित के विरूद्ध कार्रवाई भी सुनिश्चित की जाएगी। उन्होंने सभी अधिकारियों को निर्देश दिए कि जो आइजीआरएस की शिकायतें लंबित हो उनका तत्काल गुणवत्तापूर्ण ढंग से निस्तारण करना सुनिश्चित करें और आज को शिकायतें आई है उनका एक सप्ताह के अंदर निस्तारण करा दिया जाए। सम्पूर्ण समाधान दिवस  में मुख्य विकास अधिकारी वेद प्रकाश मौर्य, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. अनिल श्रीवास्तव, उप जिलाधिकारी सदरध्ज्वाइंट मजिस्ट्रेट सुधीर कुमार, सीओ सिटी राकेश कुमार सिंह, तहसीलदार पुष्पक सहित जिला स्तरीय अधिकारी एवं पुलिस क्षेत्राधिकारी उपस्थित रहे।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

राज्य उचित प्रक्रिया के बिना संपत्ति का अधिग्रहण नहीं कर सकता ।संपत्ति का अधिकार एक संवैधानिक अधिकार है। -सुप्रीम कोर्ट। राज्य उचित प्रक्रिया के बिना संपत्ति का अधिग्रहण नहीं कर सकता ।संपत्ति का अधिकार एक संवैधानिक अधिकार है। -सुप्रीम कोर्ट।
        स्वतंत्र प्रभात ब्यूरो।     सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को निजी संपत्ति को "सार्वजनिक उद्देश्य" के लिए राज्य के मनमाने अधिग्रहण

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel