जो इतिहास नहीं जानते वे इतिहास बन जाते हैं-उदय शंकर अवस्थी

जो इतिहास नहीं जानते वे इतिहास बन जाते हैं-उदय शंकर अवस्थी

जो इतिहास नहीं जानते वे इतिहास बन जाते हैं-उदय शंकर अवस्थी


नई पीढ़ी को दी नसीहत

स्वतंत्र प्रभात 
प्रयागराज ब्यूरो 
दया शंकर त्रिपाठी की रिपोर्ट


प्रबंध निदेशक डॉ. उदय शंकर अवस्थी श्रीमती रेखा अवस्थी  प्रातःकाल नवीनीकृत श्रीराम मंदिर में पूजा अर्चना की एवं समस्त इफको परिवार की मंगलकामना के लिए प्रार्थना की।


पूजा अर्चना के बाद प्रबंध निदेशक डॉक्टर अवस्थी संयत्र भ्रमण पर गए जिसमें उन्होंने शक्ति संयत्र,अमोनिया 1,2 यूरिया 1,2 ,बैगिंग  प्लांट के नियंत्रण कक्ष की जानकारी लिया एवं और अधिक बेहतर प्रदर्शन करने के लिए अधिकारियों को आवश्यक मार्गदर्शन दिया।घियानगर स्थित आर.ओ प्लांट का एवं केन्द्रीय विद्यालय में बहुउद्देशीय हॉल का उद्घाटन  भी किया।

जो इतिहास नहीं जानते वे इतिहास बन जाते हैं-उदय शंकर अवस्थी

सांयकाल उनके सम्मान मेंकवि सम्मेलन का आयोजन इफको घियानगर के मुक्तांगन परिसर में किया गया ।कार्यक्रम का शुभारंभ प्रबंध निदेशक ने द्वीप प्रज्वलित कर किया। जिसमें प्रसिद्ध कवि  शम्भू शिखर,इन्दौर के  युवा कवि अमन अक्षर ने शानदार कविताएं सुनाई। कानपुर के हेमन्त पाण्डेय ने कानपुरिया लहजे में कुछ मजेदार किस्से सुनाए। जयपुर के प्रसिद्ध एवं टेलिविजन पर चर्चित कवि सम्पत सरल ने अपनी कविताओं से शानदार प्रस्तुति दी।

 " उनकी प्रमुख पंक्ति रही, "वे भी क्या दिन थे जब घड़ी एकाध के पास होती थी।और समय सबके पास। आज सब लोग खरगोश की तरह  सबभाग रहे है लेकिन पहुंच कोई नहीं रहा। मंच का संचालन कर रहे देवास के कवि शशिकांत यादव ने हास्य एवं राष्ट्रवादी कविता सुनाई।वरिष्ठ कवि मनोहर मनोज ने महान साहित्यकार पद्म भूषण व ज्ञानपीठ सम्मानित श्रीलाल शुक्ल जी के साथ स्मृतियों को साझा किया

जो इतिहास नहीं जानते वे इतिहास बन जाते हैं-उदय शंकर अवस्थी

।उपमहाप्रबंधक वित्त एवं लेखा  संतोष कुमार सिंह  प्रबंध निदेशक, सभी कवियों एवं कार्यक्रम में मौजूद लोगों के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया। उन्होंने कहा कि यदि कृषि का इतिहास लिखा जाएगा तो यू.एस.अवस्थी से पहले का एवं बाद का इतिहास जरूर लिखा जाएगा। एस.के.सिहं की सुव्यवस्थित संचालन की सभी लोगों ने प्रशंशा की।

अंत में  प्रबंध निदेशक डॉ. यू.एस.अवस्थी ने कहा कि जो इतिहास नहीं जानते वे स्वयं इतिहास बन जाते है अतःनई पीढ़ी को सचेत एवं जागरूक रहना चाहिए। उन्होंने सभी कवियों को अंगवस्त्र एवं स्मृति चिन्ह देकर उन्हें सम्मानित किया। कार्यक्रम में कार्यकारी निदेशक इकाई प्रमुख  संजय कुदेशिया व श्रीमती विनीता कुदेशिया, महाप्रबंधक  गिरिधर मिश्र, उपमहाप्रबंधक का0 एवं प्रशा0  दानवीर सिंह,संयुक्त महाप्रबंधक गण,इफको ऑफिसर्स एसोसिएशन के अध्यक संजय कुमार मिश्र व महामंत्र स्वंय प्रकाश,इफको कर्मचारी संघ के अध्यक् पंकज पाण्डेय व महामंत्री विनय यादव  एवं बड़ी संख्या में घियानगर परिवार के सदस्य कार्यक्रम में मौजूद रहे।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel