जमीनी विवाद को लेकर मारपीट का वीडियो हुआ वायरल,पुलिस ने की वायरल वीडियो की अनदेखी

जमीनी विवाद को लेकर मारपीट का वीडियो हुआ वायरल,पुलिस ने की वायरल वीडियो की अनदेखी

लालगंज (रायबरेली)
 
सरेनी।
 
वाह री सरेनी पुलिस तेरा भी खेल निराला।आखिर ऐसी क्या मजबूरी की एक पक्षीय कार्यवाही है जरूरी।मारपीट के मामले में सरेनी पुलिस द्वारा एक पक्ष से तो आनन फानन मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया जबकि दूसरे पक्ष से दी गई तहरीर के बावजूद पुलिस टाल मटोल कर रही है।सरेनी स्थित धूरीखेड़ा गांव का मारपीट का एक वीडियो सोशलमीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है।वायरल वीडियो में साफ तौर पर देखा जा सकता है कि किस तरह आधा दर्जन लोग पीली टी शर्ट पहने युवक की बेरहमी से लाठी डंड़ों से पिटाई कर रहे हैं।यदि बचाव में उसने भी किसी को चोंट पहुंचायी तो कार्यवाही एक तरफा क्यों ? दोनों पक्षों से दी गई तहरीर के आधार पर मुकदमा पंजीकृत किया जाना चाहिए,किसी का पक्षपात नहीं करना चाहिए और निष्पक्ष जांच के आधार पर कार्यवाही होनी चाहिए।लेकिन सरेनी पुलिस दूसरे पक्ष से दी गई तहरीर पर मुकदमा ही नहीं पंजीकृत करना चाह रही,आखिर ऐसा क्यों ?
 
उल्लेखनीय है कि बुधवार को थाना क्षेत्र के एक गांव में एक युवक पर लाठियां बरसाने का वीडियो वायरल होने से हड़कंप मच गया।वायरल वीडियो में साफ तौर पर देखा जा सकता है कि आधा दर्जन लोग एक युवक को लाठियों से पीट रहे हैं।यह वीडियो थाने के धूरी खेड़ा मजरे हमीरगांव का है,जो कि बीते मंगलवार का है।जमीनी विवाद को लेकर दो पक्षों में मारपीट हुई।इस संबंध में थाना प्रभारी संजय कुमार का कहना है की धूरी खेड़ा गांव में दो पक्षों में जमीन को लेकर विवाद हो गया था।एक पक्ष की रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है,क्योंकि चोट थी।
 
कुछ लोग दबाव बनाकर क्रॉस रिपोर्ट दिखाना चाहते हैं लेकिन चोट ना होने के कारण रिपोर्ट नहीं लिखी गई।इससे वीडियो वायरल कर दिया है।उधर वीडियो में पिट रहा पीली टीशर्ट पहने युवक प्रेम शंकर पुत्र जगदेव निवासी धूरी खेड़ा मजे हमीरगांव का कहना है कि पुलिस ने विपक्ष की रिपोर्ट दर्ज कर ली है और जब मैं तहरीर देने गया तो पुलिस ने मेरा ही शांतिभंग में चालान कर दिया। बीती रात मैं तहरीर देने इसलिए नहीं आ सका क्योंकि विपक्षी जो मुझे लाठियों से मार रहे थे उन्होंने मेरा रास्ता हरक रखा हुआ था,आज जैसी मुझे मौका मिला और मैं तहरीर लेकर थाने पहुंचा तो उल्टा पुलिस ने मुझे ही बिठाकर मेरा शांतिभाग में चालान कर दिया।मैं बार-बार कहता रहा कि मेरी बात तो सुनो मुझ पर ही लाठियां बरसी हैं,लेकिन पुलिस ने मेरी एक भी नहीं सुनीं।
 

तो क्या पुलिस को नहीं दिखी वायरल वीडियो में युवक पर बरसती लाठियां

 
वायरल वीडियो में आप साफ तौर  पर देख सकते हैं कि किस तरह आधा दर्जन लोगों द्वारा पीली टीशर्ट पहने युवक पर ताबड़तोड़ लाठियां बरसाई जा रही हैं।लेकिन शायद यह सब सेटिंग गेटिंग के लिए जानी जाने वाली सरेनी पुलिस को नहीं दिखा।सवाल यह है कि जिन लोगों द्वारा युवक पर ताबड़तोड़ लाठियां बरसाई जा रही हैं क्या उनका गुनाह सरेनी पुलिस की नजर में क्षम्य है।वीडियो देखने के बाद शायद ही कोई कहे कि पीली टीशर्ट पहने युवक के साथ ज्यादती नहीं हुई है।
 
लेकिन सरेनी पुलिस के चश्में से शायद कसूरवार लाठियां खा रहा सिर्फ युवक ही था,तभी तो सरेनी पुलिस ने सिर्फ एक पक्षीय मुकदमा पंजीकृत करते हुए मामले में इतिश्री कर ली।वहीं दूसरे पक्ष की तहरीर पर पुलिस ने अनदेखी करते हुए मुकदमा लिखना तो दूर पीडित का ही शांतिभंग में चालान कर दिया।पुलिस की इस एकपक्षीय कार्यवाही से क्षेत्र में तरह-तरह की चर्चाएं हो रही हैं,जो कि सरेनी पुलिस की कार्यशैली पर प्रश्नचिन्ह लगा रही हैं।

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

अंतर्राष्ट्रीय

पत्रकार गिउलिया कॉर्टेज़ ने जॉर्जिया मेलोनी पर किया ऐसा कमेंट, केवल 4 फीट की हो, नजर भी नहीं आती, 5 हजार यूरो का फाइन अब देना पड़ेगा पत्रकार गिउलिया कॉर्टेज़ ने जॉर्जिया मेलोनी पर किया ऐसा कमेंट, केवल 4 फीट की हो, नजर भी नहीं आती, 5 हजार यूरो का फाइन अब देना पड़ेगा
International Desk मिलान की एक अदालत ने एक पत्रकार को सोशल मीडिया पोस्ट में इतालवी प्रधानमंत्री जियोर्जिया मेलोनी का मजाक...

Online Channel

साहित्य ज्योतिष