मीरगंज विधानसभा के गांव खिरका जगतपुर में थमे विकास के पहिये सच्चाई कुछ और

तीन गांव, तीन हजार वोटर, पांच हजार से भी ज्यादा आबादी लेकिन टूटे रास्ते, बेशुमार गंदगी ही बन गई है यहां की पहचान

मीरगंज विधानसभा के गांव खिरका जगतपुर में थमे विकास के पहिये सच्चाई कुछ और

स्वतंत्र प्रभात 
 
बरेली /फतेहगंज पश्चिमी।  विकासखंड फतेहगंज पश्चिमी की ग्राम पंचायत खिर का जगतपुर में बमुश्किल डेढ़ किमी दूर स्थित सत्ता पक्ष के  बाहुल्य वाली ग्राम पंचायत खिरका जगतपुर में तमाम सरकारी दावों-वादों के उलट आज भी विकास के पहियों पर ब्रेक ही लगे हैं। यह पूरी ग्राम पंचायत विकास की चमक-दमक से कोसों दूर है। 
 
ग्रामीणों का आप रोप है, सिर्फ ढोल पीटते हैं विधायक
क्षेत्रीय विधायक डाॅ. डीसी वर्मा अपनी हर सार्वजनिक मीटिंग में अपने सात साल के कार्यकाल में कराए गए विकास कार्यों का ढोल पीटते कभी शायद थकते नहीं हैं। लेकिन, सचिन शर्मा, नत्थूलाल गंगवार, रिंकू गंगवार, कवि-पत्रकार गणेश पथिक, धनंजय गंगवार आदि ग्रामवासियों के बार-बार याद दिलवाने के बावजूद उन्होंने हाईवे से सीएचसी और खिरका जगतपुर तथा खरगपुर, सतुइया खास, पटवइया, कुरतरा, बकैनिया चंपतपुर आदि गांवों और सदियों पुराने धार्मिक स्थल बाबा लक्ष्मणजती मढ़ी को जोड़ने वाले सिर्फ डेढ़ किमी लंबे वर्षों से खस्ताहाल पड़े पीड्ल्यूडी रोड का जीर्णोद्धार कराने की सुध नहीं ली है। 
 
रोड के गहरे गड्ढों में फंस रहीं कारें
 
डाॅ. डीसी वर्मा विधायक महोदय आपको भाजपा के कार्यक्रमों में अक्सर बड़े-बड़े दावे करते दिखाई दे जाएंगे कि अपने विधानसभा क्षेत्र में उन्होंने लगभग सभी गांवों को पक्के संपर्क मार्गों से जुड़वा दिया है लेकिन अब उन्हें कौन बताए कि हाईवे पर गौंटिया पेट्रोल पंप से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र होते हुए खिरका और आगे जगतपुर और सतुइया खास रेलवे फाटक तक वर्षों से पैचवर्क तक नहीं होने से इस सड़क पर हर कदम पर छह इंच तक गहरे बेशुमार गड्ढे ही गड्ढे हैं। यहां यह भी बताना जरूरी है कि टोल टैक्स बचाने के चक्कर में अक्सर कारें और अन्य भारी वाहन खिरका गांव में पूरी तरह उधड़ चुकी इसी सड़क के सीने पर धड़धड़ाते रहते हैं। पुलिया के पास 
 
छह महीने से टूटी है बाढ़ से गांव को बचाने वाली पुलिया
गांव वाले बताते हैं, बरसात के सीजन में खिरका जगतपुर गांवों को बाढ़ की त्रासदी से बचाने वाली छह महीने से टूटी पड़ी पुलिया न तो विधायक और न ही ग्राम प्रधान को दिख रही है। 
 
श्मशान भूमि में घूरे के ढेर, दसवां स्थल भी नहीं बना
 
सिर्फ इतना ही नहीं, सीएचसी के सामने स्थित श्मशान भूमि भी घूरे के ढेरों, ऊंची घास और कूड़े-कचरे से  विभाग की वर्षों से भयंकर अनदेखी की चुगली कर रही है। विधायक के लुभावने वादों के बाद भी न 25 लाख रुपये श्मशान भूमि के सौंदर्यीकरण का सरकारी प्रोजेक्ट ही पांच हजार से अधिक आबादी और तीन हजार से ज्यादा वोटरों वाली ग्राम पंचायत खिरका जगतपुर में लाया गया है और न दसवां स्थल ही बनवाया गया है।  
 
अमृत सरोवर में नाममात्र का पानी
 
टूटी है माॅडल स्कूल खिरका की बाउंड्रीवाल भी
 
माॅडल स्कूल घोषित हो चूके प्राथमिक और पूर्व माध्यमिक विद्यालय खिरका शैक्षिक स्तर और खेलकूद आदि के मामले में भले ही ब्लाॅक और जिलास्तर पर बार-बार अपना डंका बजबाते रहे हों लेकिन भद्दा सच यही है कि विद्यालय की चहारदीवारी टूटी पड़ी है। टूटी चहारदीवारी से बच्चे अंदर घुसकर क्रिकेट खेलते और हुड़दंग मचाते रहते हैं। आवारा कुत्ते भी गंदगी फैलाते रहते हैं। स्कूल की दीवार से सटाकर ग्रामीणों ने झोपड़ियां डाल रखी हैं और मवेशी भी आम रास्ते पर ही बांधते हैं
Screenshot_2024-02-09-18-15-26-05
खिरका जगतपुर ग्राम पंचायत में ज्यादातर खड़जे टूटे पड़े हैं। सीसी रोड इक्का-दुक्का ही मिलेंगे। सफाई व्यवस्था भी चौपट है। पहले दो सफाई कर्मचारी थे। अब तीन गांवों पर एक ही रह गया है। महीनों तक सफाई नहीं होने  से खिरका, जगतपुर काशीराम, खरगपुर और हाईवे किनारे की बस्ती की सभी नालियां अक्सर कूड़े-कचरे और ऊंची-ऊंची घास से पटी ही रहती हैं। 
ग्राम प्रधान जितेंद्र गंगवार का पक्ष जानने की कोशिश की गई लेकिन उन्होंने प्रतिक्रिया देने के बजाय चुप्पी साधे रहना ही बेहतर समझा। 
 
सचिन शर्मा ने सीएम पोर्टल पर शिकायत दर्ज कराई है
 
 समस्याओं की बाबत मुख्यमंत्री के जनसुनवाई पोर्टल पर ऑनलाइन शिकायत भी दर्ज कराई है। सांसद-पूर्व केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार को भी शिकायतीपत्र दे चुके हैं। सांसद ने आश्वस्त किया है कि सड़क निर्माण समेत गांव के सभी लंबित विकास कार्य इस मामले में सहायक खंड विकास अधिकारी पंचायत सतीश चंद्र शर्मा ने बताया गांव में विकास कराया जा रहा है परंतु शासन की प्राथमिकता वाले कार्य पहले प्राथमिकता पर कराए जा रहे हैं टूटी सड़कों पर उन्होंने कहा यह काम गांव पंचायत नहीं कर सकती वाहन चालक अपना टोल बचाने के लिए वह इस गांव से होकर निकलते हैं इसलिए सीसी टूट रही है
 
क्षेत्रीय विधायक डीसी वर्मा से दूरभाष पर हुई वार्ता के अनुसार उन्होंने बताया आरोप लगाने वाले गेर दलों के लोग हैं टूटी सड़क पर इस समय लोक निर्माण विभाग द्वारा कार्य जारी है साथ ही अन्य आवश्यक कार्य भी कराए जाएंगे इस गांव पंचायत में सफाई कर्मचारी की आवश्यकता थी उसे भी पूर्ण कराया जा रहा है विरोधियों द्वारा लगाए गए आरोप निराधार हैं
 

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel