आखिर क्या भ्रष्टाचार से मुक्त हो सकेगा ग्राम पंचायत नवगवां 

आखिर क्या भ्रष्टाचार से मुक्त हो सकेगा ग्राम पंचायत नवगवां 

स्वतंत्र प्रभात
अम्बेडकरनगर।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का दावा समस्त जिले को भ्रष्टाचारमुक्त बनाने का है किन्तु शासन-प्रशासन के कुछ अधिकारी उक्त दावे को अमली जामा पहनाने में पूरी तरह बाधक बने हुए हैं। जनपद के अधिकारियों पर बेअसर तो है ही, जनपद में सोशल मीडिया पर हो रहे वायरल खबर भी विभागीय अधिकारियों के लिए शून्य एवं बेअसर है। इस ग्राम पंचायत के ग्राम प्रधान एवं ग्राम पंचायत में समय-समय पर कार्यरत रहे ग्राम पंचायत/ग्राम विकास अधिकारी तथा पंचायत मित्र द्वारा ग्राम पंचायत में व्यापक स्तर पर भ्रष्टाचार किये जाने की तथ्यात्मक शिकायतें क्षेत्रीय जनता द्वारा की जा चुकी है।
 
 ग्राम पंचायत से सम्बन्धित विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों एवं जनपद के जिलाधिकारी एवं मुख्य विकास अधिकारी एवं अन्य सम्बन्धित अधिकारियों के पास शिकायतें की जा चुकी हैं। किन्तु आज तक इस ग्राम पंचायत की जांच किसी भी स्तर से नही करायी जा सकी।यही नही अकबरपुर विकासखंड के नवगवां ग्राम पंचायत में प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजनान्तर्गत स्वीकृत आवासों में ग्राम प्रधान एवं ग्राम विकास अधिकारी द्वारा गम्भीर अनियमितताओं के सम्बन्ध में गड़बड़ झाले की शिकायत भी विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों के पास की जा चुकी है। जिलाधिकारी अविनाश सिंह के द्वारा बार-बार निर्देशित करने के बावजूद निर्देश के अनुसार यह स्पष्ट होता है कि अनियमितताओं के आदेश का असर भी अधीनस्थ अधिकारियों के आगे शून्य हैं। ग्राम सभा के कुछ बुद्धिजीवियों ने कहा कि गाव के लोग इसके लिए जागरुक होकर आगे बढे़, क्योंकि भ्रष्टाचार की चपेट में सबसे अधिक अनपढ़ और गाव के लोग आते हैं। वैसे तो भ्रष्टाचार कई स्थानों पर हुआ करता है।ने कहा कि जीवन के सभी क्षेत्रों में ईमानदारी तथा कानून के नियमों का पालन करना चाहिए। किसी भी आदमी को न तो घूस देना चाहिए और ना ही घूस लेना चाहिए।
 
उन्होंने कहा कि सभी लोग अपने अपने काम को जिम्मेदारी के साथ ईमानदारी पूर्वक करने का प्रयास करें। इससे ही समाज की स्थापना होगी। उन्होंने कहा कि लोगों को जनहित में काम करना चाहिए। उक्त ग्राम सभा में बंजर खलियान और खेल मैदान तथा आबादी की सभी भूमि अतिक्रमण की चपेट में है परंतु राजस्व निरीक्षक/लेखपाल द्वारा निजी स्वार्थ में लिप्त होकर नजरअंदाज किया जा रहा है जो प्रशासन के लिए भविष्य में अतिक्रमण हटवाने के लिए पत्थर की मिल साबित होगी। विश्वास सूत्रों द्वारा मिली जानकारी के अनुसार गत दो माह में इस ग्राम सभा में ग्राम पंचायत के सचिव और प्रधान की मिली भगत से लगभग लाखो रुपए का लेनदेन भी हुआ परंतु ग्राम सभा में कहीं भी कोई कार्य दिखाई नहीं पड़ रहा है यह क्षेत्रीय लोगों द्वारा बताया जा रहा है। आखिर यह रुपया किस मद में निकल गया यह आम जनता के लिए एक यक्ष प्रश्न बनकर पड़ा हुआ है।

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel