कंधरापुर छेत्र बना अबैध खनन का मुख्य केन्द्र।

कंधरापुर छेत्र बना अबैध खनन का मुख्य केन्द्र।

गोलागोकर्णनाथ खीरी।
 
गोला तहसील के अंतर्गत आने वाले ग्राम कोटवारा, कंधरापुर इस वक्त अवैध खननमाफ़ियों का केन्द्र बन चुका है।इन्ही गांवों के समीप से ही लखीमपुर तहसील क्षेत्र शुरू होता है।सेमरई गाँव मे लाल बालू के टीलों से व कृषि योग्य खेतों से अवैध खनन होता है।जिस कारण छेत्र की सड़कों से निकलना मुश्किल हो गया है।
 
सड़कों पर भारी भरकम वजन लाद कर ट्रालियों व डम्फरों के निकलने के कारण सड़कों पर 12-15इंच गहरे गड्ढे हो गये हैं।इन गड्ढों से बचने के लिए थोड़ी सी चूक सड़क पर पड़ी बालू से फिसल कर मोटरसाइकिल, साइकिल को गिरा सकती है।आलम यह है कि बच्चों को स्कूल जाने में भय बना हुआ है।
 
कई बच्चों के अभिभावकों ने बच्चों को विद्यालय भेजना बन्द कर रखा है।गन्ने का सीजन शुरू होने के कारण किसानो को गन्ने की भरी ट्रालियां,बैलगाड़ियों के पलटने का बहुत बड़ा खतरा बना हुआ है।सड़कों पर गिरी पड़ी बालू के कारण वाहनों को ओवरटेक करना तो नामुमकिन ही है।इन सड़कों से कई गांवों के लोग शहरों को आवश्यक कार्य हेतु जाते हैं।
 
गोला जाने के लिये यह सड़क जड़ौरा ,कपरहा, बांसगांव, देवकली, मदारपुर बसही,देवरिया, शेरपुर, कोरैया, सकेथू, कोडरी,जमालपुर,कंधरापुर सहित दर्जनों गांवों के लिए एक मात्र मुख्य मार्ग है।जिस कारण इस मार्ग पर वाहनों का आना जाना लगातार जारी रहता है।वहीं दूसरी ओर शेरपुर सेमरई होकर जाने वाली सड़क पर भी मिट्टी भरी ट्रालियों ने निकलना मुश्किल कर रखा है।अवैध खनन के बारे मे ग्रामीणों से वात करने पर अधिकारियों व पुलिस की मिली भगत से होने का आरोप लग रहा है।

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel