दिल्ली सेशन में शामिल होने भारत मंडपम' में पहुंचे,फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों का भारतीय संस्कृति से स्वागत   

दिल्ली सेशन में शामिल होने भारत मंडपम' में पहुंचे,फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों का भारतीय संस्कृति से स्वागत   

g20स्वतंत्र प्रभात 

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों G20 शिखर सम्मेलन में शामिल होने के लिए शनिवार को दिल्ली पहुंचे हैं। इमैनुएल मैक्रों समिट के पहले दिन के सेशन ‘वन अर्थ’ में वह हिस्सा नहीं ले पाए। संभावना है कि वे दूसरे सेशन ‘वन फैमिली’ में शिरकत करेंगे। दूसरा सेशन दोपहर 3 बजे से शुरू होगा। बता दें कि पहले दिन के पहले सेशन की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण के साथ हुई। यूक्रेन युद्ध के कारण पैदा हुए गहरे मतभेदों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विश्व के नेताओं से शनिवार को अपील की कि वे दुनिया भर में विश्वास में आई कमी को एक-दूसरे पर भरोसे में तब्दील करने और पुरानी चुनौतियों के नए समाधान खोजने की मिलकर कोशिश करें। 

 

 पीएम मोदी ने जी20 समिट की अध्यक्षता करते हुए अपने संबोधन की शुरुआत मोरक्को भूकंप पीड़ितों को श्रद्धांजलि देकर की. उन्होंने कहा, ‘हम घायलों के जल्द स्वस्थ होने की प्रार्थना करते हैं. पूरा विश्व उनके साथ है और हम उन्हें हर मदद मुहैया कराएंगे.’ जी20 शिखर सम्मेलन के पहले सत्र The Earth की शुरुआत करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि 21वीं सदी का समय पूरी दुनिया को दिशा दिखानेवाला और दिशा देनेवाला है. हमें मानव केन्द्रित अप्रोच के साथ आगे बढ़ना है. कोविड के बाद विश्वास के अभाव का संकट आया है. जब हम कोविड को हरा सकते हैं, तो इस संकट पर भी विजय हासिल कर सकते हैं।

पीएम मोदी ने ‘भारत मंडपम' में जी20 नेताओं के शिखर सम्मेलन की शुरुआत करते हुए अपने संबोधन में कहा कि यदि दुनिया कोविड-19 को हरा सकती है, तो वह युद्ध के कारण आई विश्वास में कमी पर भी विजय प्राप्त कर सकती है। प्रधानमंत्री ने जी20 नेताओं के ‘एक पृथ्वी' सत्र को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘यह वैश्विक कल्याण के लिए हम सबके साथ मिलकर चलने का समय है।'' इस सत्र में अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन, सउदी अरब के युवराज मोहम्मद बिन सलमान, ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक और ब्राजील के राष्ट्रपति लुइज इनासियो लूला डा सिल्वा समेत कई नेताओं ने भाग लिया।

नई दिल्ली जिले में जी20 ​शिखर सम्मेलन के मद्देनजर कड़े प्रतिबंध लागू हैं. राष्ट्रीय राजधानी के सभी इलाकों में चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा की कड़ी व्यवस्था की गई है. एसपीजी, क्विक रिसपॉन्स टीम, दिल्ली पुलिस के साथ-साथ अन्य सुरक्षा बलों की तैनात की गई है. हेलीकॉप्टर के जरिए आसमान से निगरानी रखी जा रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस दो दिवसीय शिखर सम्मेलन में 15 से अधिक द्विपक्षीय वार्ता करने वाले हैं. उन्होंने कल अमेरिकी राष्ट्रपति के अलावा बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना और मॉरिशियस के राष्ट्राध्यक्ष संग द्विपक्षीय वार्ता की थी।

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel