प्रतिबंधित पेड़ों की अवैध कटान को बढ़ावा देती महिला वन कर्मचारी सूचना के बाद भी नहीं की जा रही समुचित पेड़ों पर कार्यवाही

प्रतिबंधित पेड़ों की अवैध कटान को बढ़ावा देती महिला वन कर्मचारी सूचना के बाद भी नहीं की जा रही समुचित पेड़ों पर कार्यवाही

बाराबंकी
 
जिले भर में हो रहे प्रतिबंधित अवैध पेड़ों की कटान को लेकर प्रभागी निदेशक कार्रवाई पर कार्रवाई कर रहे हैं जो हर संभवप्रतिबंधित पेड़ों के कटान को लेकर सख्त आदेश जारी कर रहे हैं l
 
लेकिन उन्हीं की विभाग के कुछ खत धर्मी कर्मचारी जो प्रभ की निदेशक की छवि को धूमिल कर रहे हैं ऐसे कर्मचारी जो केवल क्षेत्र में सिर्फ अवैध वसूली और प्रतिबंधित पेड़ों की कटान को बढ़ावा दे रहे हैंजो स्वयं तो इससे बचने के लिए रिटायर्ड कर्मचारी और प्राइवेट व्यक्ति का सहारा ले रही हैं l
 
जिसका जीता जागता उदाहरण आप बाराबंकी जनपद के हरख रेंज के विकासखंड सिद्धौर के कोठीथाना क्षेत्र के कई गांवो से ले सकते हैं l
 
जहां पर बीते दिनों ग्राम पंचायत खानपुर में महिला वनरक्षक ने दो प्रतिबंधित नीम के पेड़ों की कटानकरवा दिया और कार्रवाई के नाम पर सिर्फ खाना पूर्ति के लिए उच्च अधिकारियों को गुमराह करते हुए एक पेड़ पर जुर्माना कर दिया l
 
वहीं दूसरा मामàला बाराबंकी से हैदरगढ़ रोड पर स्थित सादुल्लापुर निकट मंदिर के पास कारखाने के अंदर एक भारी भरकम नीम के पेड़ को मोटी रकम लेकर कटवा दिया गया तीसरा मामला सैदान पुर का है जहां पर एक प्रतिबंधित आम को कटवा दिया गया l
 
इन सभी प्रतिबंधित पेड़ों को कटवाने के लिए पहले वनरक्षक द्वारा ज जुर्माने के नाम पर पैसा ले लिया जाता है क्योंकि शिकायत होने पर कौन किसको ढूंढेगा सिर्फ रसीद देना होगा उसके बाद पेड़ों को अवैध तरीके से काटने का आदेश दे दिया जाता हैजब मामला मीडिया की सुर्खियों में आता है तो वन माफिया ठेकेदार को हटा कर किसान को सामने खड़ा कर दिया जाता है l
 
यदि उच्च अधिकारी मामले का संज्ञान नहीं लेते तो सारा पैसा जब तो करते हुए विवाह को गुमराह कर दिया जाता है उसके बावजूद भी यदि मामला तूल पकड़ता है तो ठेकेदार को बढ़ाने की परवी करते हुए केवल खाना पूर्ति के लिए कटे हुए सभी पेड़ों में से आधे अधूरे पेड़ों की रसीद दे दी जाती है l
 
सभी उपरोक्त प्रतिबंध पेड़ों की कटान को लेकर जब महिला वनरक्षक से बात की गई तो उन्होंने बताया कि कटान हुआ है मामले की जानकारी हैऔर क्या किसान को फांसी पर चढ़ा दें किसान कह रहा है अब हम पैसा नहीं दे पाएंगे तो देखने वाली बात यह होगी कि क्षेत्र में कांटे गए प्रतिबंध पेड़ों पर प्रभागिय निदेशक बाराबंकी के आदेशों का अनुपालन करते हुए काटे गए समुचित प्रतिबंधित पेड़ों पर करवाई होगी या फिर यूं ही किसान की आड़ में ठेकेदार प्रतिबंधित पेड़ों की कटान करते रहेंगे। 
 
 
 
 
 
 
 

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

उप चुनाव: बंगाल में भाजपा की पकड़ कमजोर, हिंदी पट्टी में कांग्रेस की बढ़त,। उप चुनाव: बंगाल में भाजपा की पकड़ कमजोर, हिंदी पट्टी में कांग्रेस की बढ़त,।
स्वतंत्र प्रभात ब्यूरो।   7 राज्यों- हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश, उत्तराखंड, तमिलनाडु, पंजाब, पश्चिम बंगाल और बिहार - की 13 सीटों...

Online Channel

साहित्य ज्योतिष