चीन ने माना, लैटिन अमेरिका के ऊपर उड़ने वाले गुब्बारे उसके ही थे

चीन ने माना, लैटिन अमेरिका के ऊपर उड़ने वाले गुब्बारे उसके ही थे

स्वतंत्र प्रभात।

बीजिंग: चीन ने सोमवार को स्वीकार किया कि लैटिन अमेरिका के ऊपर कई दिनों तक उड़ता देखा गया विशाल गुब्बारा उसका है। गौरतलब है कि कुछ दिन पहले अमेरिकी सेना ने एक संदिग्ध चीनी जासूसी गुब्बारे को मार गिराया था जो कई दिनों तक अमेरिकी महाद्वीप के ऊपर उड़ता रहा था। कोलंबियाई वायुसेना और कोस्टा रिका के नागरिक उड्डयन प्राधिकरण, दोनों ने पुष्टि की कि अमेरिका में दिखे सफेद गुब्बारे जैसा ही एक गुब्बारा पिछले सप्ताह उनके हवाई क्षेत्र में भी दिखा था, हालांकि उन्होंने इसे चीनी गुब्बारा नहीं बताया है।

ऐसा पहली बार है जब चीन ने स्वीकार किया है कि लैटिन अमेरिका के दो देशों के ऊपर उड़ने वाले गुब्बारे उसके थे। चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता माओ निंग ने गुब्बारों के संबंध में सवाल करने पर पत्रकारों से कहा, ‘‘लैटिन अमेरिका के ऊपर उड़ रहे गुब्बारों के बारे में यह सत्यापित हुआ है कि वह चीन के मानवरहित वायुयान हैं, वे असैन्य प्रकृति के हैं और उनका उपयोग उड़ान के परीक्षण के लिए हुआ था।’’ चीन ने जासूसी करने के आरोपों को खारिज करते हुए कहा है कि वे (गुब्बारे) मौसम की निगरानी कर रहे थे।इस घटना को लेकर वाशिंगटन और बीजिंग (अमेरिका और चीन) के बीच कूटनीतिक गतिरोध शुरू हो गया है।
 

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती? सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती?
सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को चुनाव आयोग को उस याचिका पर जवाब दाखिल करने के लिये एक सप्ताह का समय...

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel