लाभकारी खेती, स्वावलम्बी गाँव हर हाथ को काम से ही भारत बनेगा विश्वशक्ति 

लाभकारी खेती, स्वावलम्बी गाँव हर हाथ को काम से ही भारत बनेगा विश्वशक्ति 

पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न चौधरी चरण सिंह के जन्मदिवस पर रामकोला तिराहे पर आयोजित समारोह एवं किसान पंचायत

ऑनलाइन न्यूज डायरी स्वतंत्र प्रभात 

कुशीनगर।भारत की आत्मा गाँव में बस्ती है तथा सदियों से कृषि एवं ऋषि संस्कृति का संरक्षण एवं संवर्धन किसानों ने ही किया है उक्त उद्गार पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न चौधरी चरण सिंह के जन्मदिवस पर रामकोला तिराहे पर आयोजित समारोह एवं किसान पंचायत में पूर्व विधायक मदन गोविन्द राव ने प्रकट किया।राव ने कहा कि सदियों से देश के किसानों ने घाटा उठाते हुए भी देश का पेट भरने के लिए अथक प्रयास किया है तथा आज़ादी के बाद भी आजतक किसान हाड़तोड़ परिश्रम के बाद भी कर्ज़ में जन्म लेता है तथा कर्ज़ में ही दम तोड़ देता है, प्राकृतिक एवं पर्यावरणीय संकट में फँसे किसान की मदद के लिए एक मज़बूत प्रभावी तंत्र विकसित किया जाना चाहिए,चीनी मिलों में घटतौली,सप्लाई टिकट आपूर्ति एवं सट्टा नीति दोषपूर्ण होने के कारण रामकोला सहित जनपद का गन्ना किसान परेशान हैं, ज़िला प्रशासन न तो धटतौली रोक पा रहा है और ना ही पिछले वर्षों में अतिवृष्ट से तबाह किसानों की कोई प्रभावी मदद कर पाया है। पूर्व विधायक डॉक्टर पूर्णमासी देहाती ने चौधरी चरण सिंह को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि चौधरी साहब ने भारतीय राजनीति में किसान शक्ति का एहसास कराकर एक नई दिशा देने का काम किया था आज देश में किसानों की मज़बूत ताक़त दिखाई पड़ रही है।

समारोह को पूर्व चेयरमैन महेंद्र प्रसाद गोंड,प्रेमचंद मद्देशिया,नागेश्वर पाण्डेय,रामकुमार मद्देशिया, अनिरुद्ध खरवार, कर्मवीर गोविन्द राव,व्यापार मंडल अध्यक्ष बुनेला गुप्ता,रामू जायसवाल,विश्वजीत गोविन्द राव,कमल कोहली,काशीनरेश सिंह,जोगी प्रसाद,आनंद सिंह,उमेश तिवारी,संतोष जायसवाल भान पटेल आदि ने संबोधित किया संचालन दिनेश यादव ने किया। वक्ताओ ने प्रत्येक किसान परिवार के एक सदस्य को नौकरी तथा व्यवसाय, फसलों पर न्यूनतम मुनाफ़े की गारंटी,1% ब्याज दर पर कर्ज़ तथा प्रत्येक ज़िले में एक कृषि कालेज,ब्लाक स्तर पर स्टोरेज न्याय पंचायत स्तर पर मिनी कोल्ड चेन बनाने की भी माँग किया तथा लघु मध्यम एवं सूक्ष्म तथा ग्रामीण उद्योगों के विस्तार पर बल दिया।समारोह के प्रारंभ में चौधरी चरण सिंह के चित्र पर माल्यार्पण एवं पुष्प अर्पित किया गया।

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

राज्य उचित प्रक्रिया के बिना संपत्ति का अधिग्रहण नहीं कर सकता ।संपत्ति का अधिकार एक संवैधानिक अधिकार है। -सुप्रीम कोर्ट। राज्य उचित प्रक्रिया के बिना संपत्ति का अधिग्रहण नहीं कर सकता ।संपत्ति का अधिकार एक संवैधानिक अधिकार है। -सुप्रीम कोर्ट।
        स्वतंत्र प्रभात ब्यूरो।     सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को निजी संपत्ति को "सार्वजनिक उद्देश्य" के लिए राज्य के मनमाने अधिग्रहण

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel