फर्जी/कूटरचित दस्तावेज तैयारकर जमीन का फर्जी बैनामा करने वाले गैंग का पुलिस ने किया पर्दाफाश

50 लाख के फ्राड का खुलासा, तीन शातिर जालसाज गिरफ्तार, फर्जी आधार कार्ड व अन्य दस्तावेज बनाने में प्रयुक्त एक अदद सीपीयू मय हार्ड डिस्क बरामद, अदलहाट पुलिस को मिली सफलता,पुलिस  अधीक्षक ने पत्रकार वार्ता कर किया खुलासा......

फर्जी/कूटरचित दस्तावेज तैयारकर जमीन का फर्जी बैनामा करने वाले गैंग का पुलिस ने किया पर्दाफाश

स्वतंत्र प्रभात 
 
मिर्जापुर बीके अगस्त माह में  जनसुनवाई के दौरान एक शिकायती प्रार्थना पत्र प्राप्त हुआ, जिसमें आवेदिका सुरसत्ती देवी, थाना मुगलसराय जनपद चंदौली द्वारा नामजद अभियुक्तों के विरूद्ध फर्जी दस्तावेज व आधार कार्ड तैयार कराकर अवैध ढ़ग से जमीन अपने नाम रजिस्ट्री कराने के सम्बंध में तहरीर दी गयी । पुलिस अधीक्षक मीरजापुर द्वारा उक्त घटना को गंभीरता पूर्वक लेते हुए प्रभारी निरीक्षक अदलहाट को यथाशीघ्र अभियोग पंजीकृत कर साक्ष्य संकलन के आधार पर घटना से सम्बन्धित अभियुक्तों की गिरफ्तारी करने के निर्देश दिये गये । उक्त निर्देश के क्रम में थाना अदलहाट द्वारा अभियोग पंजीकृत कर विवेचना प्रारम्भ की गई ।
 
थाना अदलहाट क्षेत्र से तीन अभियुक्तों रमेश यादव, संदीप कुमार, सन्तोष कुमार प्रजापति को गिरफ्तार किया गया । गिरफ्तार अभियुक्त रमेश यादव के कब्जे से एक अदद अवैध तमंचा 315 बोर मय एक अदद कारतूस व अभियुक्त संतोष कुमार प्रजापति के कम्प्यूटर की दुकान से फर्जी आधार कार्ड तैयार करने में प्रयुक्त एक अदद सीपीयू मय हार्ड डिस्क बरामद किया गया ।  
 
खुलासा करते हुए बताया कि गिरफ्तार लोगों द्वारा एक संगठित गिरोह बनाकर कूटरचित दस्तावेज तैयार कराकर जमीन सम्बन्धित जालसाजी की जाती थी। अभियुक्त रमेश यादव ने बताया कि अपनी मौसी सुरसत्ती देवी की जमीन का फर्जी आधार कार्ड तैयार कर सुरसत्ती देवी के स्थान पर फुलवन्ती देवी उर्फ फुलपत्ती देवी उर्फ शान्ति को खड़ा करके अपनी मिलीभगत से षड़यत्र के तहत अपने नाम का रजिस्ट्री करा लिया ।
 
सुरसत्ती देवी का नकली आधार कार्ड संतोष कुमार प्रजापति द्वारा अपनी कम्प्यूटर की दूकान से तैयार किया गया था । गिरफ्तार अभियुक्तो द्वारा योजना बद्ध तरीके से फर्जी/कूटरचित दस्तावेज तैयार कर करीब 50 लाख रू0 का फ्राड कर वादिनी सुरसत्ती देवी के साथ किया गया । इस फ्रॉड का खुलासा करने वाली अदालत पुलिस को 20 हजार के नाम से पुरस्कृत किया जा रहा है साथ ही उनके खिलाफ गैंगस्टर की कार्रवाई की जाएगी और जो महिला फर्जी रूप से शामिल हुई थी उसके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी 

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

राज्य उचित प्रक्रिया के बिना संपत्ति का अधिग्रहण नहीं कर सकता ।संपत्ति का अधिकार एक संवैधानिक अधिकार है। -सुप्रीम कोर्ट। राज्य उचित प्रक्रिया के बिना संपत्ति का अधिग्रहण नहीं कर सकता ।संपत्ति का अधिकार एक संवैधानिक अधिकार है। -सुप्रीम कोर्ट।
        स्वतंत्र प्रभात ब्यूरो।     सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को निजी संपत्ति को "सार्वजनिक उद्देश्य" के लिए राज्य के मनमाने अधिग्रहण

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel