डीएम के प्रयास से श्रीमती सरोज सिंह को मिली दुरूस्त खतौनी की नकल

डीएम के प्रयास से श्रीमती सरोज सिंह को मिली दुरूस्त खतौनी की नकल

अंकित कराते हुए खाते की प्रमाणित खतौनी की नकल दिलाये जाने हेतु सम्बन्धित को निर्देशित करने का कष्ट करें।


स्वतंत्र प्रभात 
 


बहराइच । तहसील कैसरगंज अन्तर्गत ग्राम ग्राम इटहुआ, परगना हिसामपुर तहसील कैसरगंज की निवासिनी श्रीमती सरोज सिंह पत्नी कप्तान सिंह द्वारा जिलाधिकारी डॉ. दिनेश चन्द्र की जनसुनवाई के दौरान 18 अक्टूबर 2021 को इस आशय का प्रार्थना-पत्र प्रस्तुत किया गया कि ग्राम इटुहवा के खतौनी वर्ष 1419 से 1424 फसली के खाता संख्या 129 के गाटा संख्या 49/0.332 हे. में 


अंकित नाम श्रीमती सरोज सिंह पत्नी कप्तान सिंह व गुरसरन सिंह पुत्र हनुमान सिंह के नाम से अंकित था। प्रार्थिनी द्वारा 0.081 हे. भूमि विक्रय श्रीमती लक्ष्मी पत्नी ध्रुव सिंह, निवासी खजुहा को किया गया था। भूमि बिक्री के पश्चात उक्त गाटे में प्रार्थिनी की कुछ भूमि शेष रह गयी थी। परन्तु खतौनी परिवर्तन के दौरान प्रार्थिनी का नाम छूट गया है। कृपया पूर्ववर्ती अभिलेखों के आधार पर प्रार्थिनी का नाम अंकित कराते हुए खाते की प्रमाणित खतौनी की नकल दिलाये जाने हेतु सम्बन्धित को निर्देशित करने का कष्ट करें।

श्रीमती सरोज सिंह द्वारा प्रस्तुत प्रार्थना-पत्र का कड़ा संज्ञान लेते हुए जिलाधिकारी डॉ. दिनेश चन्द्र द्वारा उप जिलाधिकारी कैसरगंज को प्रकरण का तत्काल निस्तारण कर आख्या उपलब्ध कराये जाने के निर्देश दिये गये। जिलाधिकारी के निर्देश पर एस.डी.एम. कैसरगंज द्वारा खतौनी के फसली सन् 1425 से 1430 में श्रीमती सरोज सिंह पत्नी कप्तान सिंह, ग्रामवासी का नाम पूर्ववर्ती अभिलेखों के आधार पर


 अभिलिखित खातेदारों के साथ उ.प्र. राजस्व संहित 2006 की धारा 38 के तहत अंकित करा दिया गया। उल्लेखनीय है कि शुक्रवार को कलेक्ट्रेट सभागार में कृषि विभाग के प्राविधिक सहायकों के नियुक्ति पत्र वितरण कार्यक्रम के दौरान जिलाधिकारी


 डॉ. दिनेश चन्द्र द्वारा विधाकय पयागपुर सुभाष त्रिपाठी, महसी के सुरेश्वर सिंह व बलहा की श्रीमती सरोज सोनकर के साथ श्रीमती सरोज सिंह पत्नी कप्तान सिंह को खाते की प्रमाणित खतौनी की नकल उपलब्ध करा दी गयी।
                          

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel