बुंदेलखंड नवोदय महाविद्यालय श्रीनगर में गांधी व शास्त्री की मनाई गई जयंती

बुंदेलखंड नवोदय महाविद्यालय श्रीनगर में गांधी व शास्त्री की मनाई गई जयंती

जिन्होंने ब्रिटिश साम्राज्य की नींव कमजोर करने में बड़ा रोल अदा किया।


स्वतंत्र प्रभात 
 

श्रीनगर ; महोबा । आज 2 अक्टूबर 2021को बुन्देलखण्ड नवोदय महाविद्यालय श्रीनगर में, राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जयंती और लाल बहादुर शास्त्री की जयंती मनाई गई। इस दौरान महाविद्यालय के प्राचार्य विश्वनाथ सिंह परिहार ने कहा

देश 152 वीं गांधी जयंती मना रहा हैं। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 को गुजरात के पोरबंदर में हुआ था, उनका पूरा नाम मोहनदास करमचंद गांधी था।
महात्मा गांधी ने लंदन में कानून की पढ़ाई की थी , चंपारण सत्याग्रह, असहयोग आंदोलन, दांडी सत्याग्रह, दलित आंदोलन, भारत छोड़ो आंदोलन उनके कुछ प्रमुख आंदोलन रहे जिन्होंने ब्रिटिश साम्राज्य की नींव कमजोर करने में बड़ा रोल अदा किया।

प्रवक्ता आशीष मिश्रा ने बताया कि गांधीजी ने भारतीय समाज में व्याप्त छुआछूत जैसी बुराइयों के प्रति लगातार आवाज उठाई, लाल बहादुर शास्त्री की 118वीं जयंती है, शास्त्री  का जन्म उत्तर प्रदेश के मुगलसराय में 2 अक्टूबर 1904 को मुंशी लाल बहादुर शास्त्री के रूप में हुआ था, उनकी माता का नाम राम दुलारी था और पिता का नाम मुंशी प्रसाद श्रीवास्तव था, शास्त्री की पत्नी का नाम ललिता देवी था,  शास्त्री ने विषम परिस्थितियों में शिक्षा हासिल की, कहा जाता है कि वह नदी तैरकर रोज स्कूल जाया करते थे, क्योंकि जब बहुत कम गांवों में ही स्कूल होते थे। 

छात्रा कीर्ति सोनी , रोशनी विश्वकर्मा ने अपने विचार रखे।

निबंध प्रतियोगिता में प्रथम अर्पणा पटेरिया, द्वितीय दीपेन्द्र मिश्रा, तृतीय आकांक्षा विश्वकर्मा, स्थान ने प्राप्त किया, कार्यक्रम का संचालन छात्रा आकांक्षा विश्वकर्मा ने किया।
कार्यक्रम के दौरान प्रबंधक एस. के. सिंह, अध्यक्ष वीरेंद्र सिंह, प्रवक्ता पूजा यादव, राजकुमार पांचाल, विनय सिंह, सुरेंद्र तिवारी, संतोष, मनोज आदि समस्त छात्र छात्रा उपस्थित रहे।
 

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel