दरियाबाद की प्रतिष्ठित सीट के लिए प्रधानमंत्री ने झोंकी पूरी ताकत

दरियाबाद की प्रतिष्ठित सीट के लिए प्रधानमंत्री ने झोंकी पूरी ताकत

दरियाबाद की प्रतिष्ठित सीट के लिए प्रधानमंत्री ने झोंकी पूरी ताकत



बाराबंकी

भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री आज आजादी के बाद रामसनेहीघाट की धरती पर पहली बार कदम रखा यह इतिहास रहा है कि 1947 में देश आजाद होने के बाद किसी भी प्रधानमंत्री के द्वारा पहली बार लोधेश्वर महादेव और मां कल्याणी की पवित्र धरती पर प्रधानमंत्री के रूप में अगर श्रेय लिया है तो वह भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी हैं l


दरियाबाद विधानसभा में भाजपा प्रत्याशी के रूप में निवर्तमान विधायक सतीश चंद्र शर्मा चुनाव मैदान में हैं भारतीय जनता पार्टी ने उन्हें दोबारा प्रत्याशी बनाया है 5 साल का उन्होंने कार्यकाल पूरा कर लिया है अपने मृदुभाषी स्वभाव के कारण जनता के बीच में हमेशा चर्चा के विषय रहे हैं विशेष बात यह रही है कि उन्होंने कार्य तो किया है पब्लिक मीटिंग भी की है जनसंवाद ही किया है छोटे से बुलावे पर जनता जनार्दन से घर पर हाजिर भी हुए हैं यही उनकी जीत का कारण बन सकती है किंतु यहां पर समाजवादी पार्टी के पूर्व कैबिनेट मंत्री अरविंद सिंह गोप तो उन्हें टक्कर दे ही रहे हैं तो वहीं पूर्व कृषि राज्य मंत्री राजा राजू कुमार सिंह के पुत्र रिंकू सिंह और रितेश सिंह भी खूब टक्कर दे रहे हैं

राजा राजीव कुमार सिंह दरियाबाद में छह बार विधायक होने का गौरव प्राप्त किया और टिकट ना मिलने के कारण हृदयाघात से उनकी मृत्यु हो गई जिसकी सहानुभूति लोगों के मन में बनी हुई है राजीव कुमार सिंह की पत्नी राजमाता सुधा सिंह भी जनसंवाद कार्यक्रम कर रही हैं लोगों के बीच मिल रही हैं और अपने पुत्र रितेश कुमार सिंह को दरियाबाद से विधायक बनाने की अपील भी कर रही हैं सबसे दिलचस्प बात यह है कि रितेश सिंह का पुत्र भी अपने पिता को विजई बनाने के लिए लोगों से वोट की अपील करता नजर आ रहा है जिसकी उम्र मात्र 12 वर्ष की है इन सब उठापटक के बीच बसपा प्रत्याशी भी पूरी ताकत के साथ चुनाव मैदान में जनसभा कर रहे हैं दरियाबाद विधानसभा की सीट भाजपा को बचाना मुश्किल लग रहा था

दरियाबाद की प्रतिष्ठित सीट के लिए प्रधानमंत्री ने झोंकी पूरी ताकत

इसी परिपेक्ष में भाजपा ने पूरी ताकत झोंक दी और प्रधानमंत्री ने राम सनेही घाट की धरती से जनता जनार्दन का अभिवादन कर जनसंवाद कार्यक्रम शुरू किया उन्होंने अपने कराए गए कार्य प्रधानमंत्री आवास योजना किसान सम्मान निधि के रूप में केवल बाराबंकी को 800 करोड़ रुपए देने का भी उल्लेख किया कोरोनावायरस का टीका लोगों को मुफ्त में दिया तो साथ ही साथ पशुधन बचाने के लिए खुर पका रोग मुंह पका रोग और भी अन्य रोगों के लिए मुफ्त वैक्सीन भी उपलब्ध कराई किसान सम्मान निधि का तो लाभ किसानों को मिल ही रहा है उज्जवला योजना के अंतर्गत सिलेंडर मुक्त दिए बिजली मुफ्त दी और राशन भी मुफ्त दे रहे हैं सपा सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि यह परिवार वादी लोग हैं यह सब अपना ही भला करते हैं गरीबों की कोई चिंता नहीं करते हैं और गरीबों का धन खुद खा जाते हैं और इनके चट्टे बट्टे खुद ही चट कर जाते हैं

 अभी इत्र वाले मित्र के यहां पर छापा पड़ा और कई करोड़ का धन नगद मिला इसका जिक्र योगी आदित्यनाथ जी कई सभाओं में कर चुके हैं प्रधानमंत्री ने कहां की उत्तर प्रदेश के विकास के लिए योगी आदित्यनाथ को पुनः मुख्यमंत्री बनाना आप सभी का विशेष लक्ष्य होना चाहिए क्योंकि उत्तर प्रदेश ही भारत का सबसे बड़ा राज्य है और 7 फीसदी की आबादी यहां निवास करती हैं उत्तर प्रदेश भारत का भाग्य और भविष्य दोनों तय करें इसके लिए योगी को मुख्यमंत्री जरूर बनाना होगा

 तभी यह संभव हो पाएगा और अंत में उन्होंने जनता जनार्दन से अपील है कि हमारी इस बात को गांव गांव घर घर और प्रत्येक मतदाता तक पहुंचा नहीं है कि हमने उन्हें नमस्ते भेजा है उन्हें प्रणाम भेजा है उसे स्वीकार करें और आने वाले 27 फरवरी को भाजपा का बटन दबाकर भाजपा प्रत्याशी को विजई बनाएं कमल खिलाएं *दिलचस्प बात* यह है कि प्रधानमंत्री ने किसी भी भाजपा प्रत्याशी का मंच पर नाम नहीं लिया अयोध्या के सांसद लल्लू सिंह ने और बाराबंकी के सांसद उपेंद्र सिंह ने बाराबंकी  का बना हुआ विश्व प्रसिद्ध गमछा भेंट कर प्रधानमंत्री का सम्मान जरूर किया l

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण के अंत में सभी प्रत्याशियों के साथ फोटोशूट करवाई तो अब देखना यह है कि आने वाले 27 फरवरी को जनता मोदी मैजिक के प्रभाव में आती है या अपने स्वभाव से किसे वोट करते हैं यह बात भविष्य के गर्त में छुपी हुई है कौन जीतता है यह तो 10 मार्च को पता चलेगा लेकिन दरियाबाद की है प्रतिष्ठित से जिताने के लिए देश के प्रधानमंत्री को स्वयं आना पड़ा इस बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि यह सीट भाजपा के लिए विशेष मायने रखती है और यह सीट जीतना आसान होता तो स्वयं प्रधानमंत्री को यहां ना आना पड़ता यह इस बात को भी दर्शाता है कि कहीं भाजपा प्रत्याशी को कुछ अंदेशा भी है  की सीट फसती हुई नजर आ रही है l

मोदी मैजिक कितना काम करेगा यह समय ही बताएगा मुकाबला जीतना इतना आसान नहीं दिख रहा है अन्य पार्टियों ने भी अपनी पूरी ताकत प्रचार अभियान में झोंक दी है लेकिन लोगों का कहना है कि मोदी मैजिक के आगे सब फेल हैं और सतीश शर्मा पुनः विधायक बनेंगेl

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel