पीपल के पेड़ से लटका मिला युवक का शव, पुलिस ने पोस्टमार्टम को भेजा 

 पीपल के पेड़ से लटका मिला युवक का शव, पुलिस ने पोस्टमार्टम को भेजा 

मिल्कीपुर अयोध्या । खण्डासा में युवक का संदिग्ध परिस्थितियों में पेड़ से लटकता शव मिला है। युवक का शव रस्सी के सहारे फांसी के फंदे पर झूलता हुआ मंदिर जाने वाले लोगों को सुबह दिखा युवक के पीठ पर बैग भी टंगा हुआ था। सूचना पर पहुंची पुलिस ने पेड़ से शव नीचे उतरवाकर पंचनामा करने के बाद पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही मौत के कारण स्पष्ट होंगे कि युवक ने आत्महत्या की है या उसकी हत्या की गई है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार खण्डासा थाना क्षेत्र के संत भीखा दास तपोस्थली परिसर स्थित पीपल के पेड़ की डाल से संदिग्ध परिस्थितियों में एक युवक पीठ पर बैग टंगे हुए रस्सी के सहारे फंदे से लटका हुआ था। सुबह ग्रामीण पूजा अर्चना के लिए मंदिर  जा रहे थे तभी पेड़ से लटके युवक पर उनकी निगाह पड़ी और भयभीत हो गए कुछ ही देर में बड़ी संख्या में लोग मंदिर परिसर में पहुंच गए। और घटना की जानकारी स्थानीय पुलिस को दी।
 सूचना पर थानाध्यक्ष खण्डासा विवेक सिंह, चौकी प्रभारी प्रभारी सुधीर त्रिपाठी, उप निरीक्षक धर्मेंद्र कुमार कांस्टेबलों के साथ मौके पर पहुंचकर पेड़ से लटके युवक के शव को नीचे उतरवाकर बैग की जब तलाशी ली तो उसमें मृतक युवक का आधार कार्ड पुलिस को बरामद हुआ।
प्राप्त आधार कार्ड से मृतक की पहचान ध्रुव चंद पुत्र राममिलन ग्राम जैथरी पोस्ट शुजागंज थाना रौनाही के रूप में हुई है। क्षेत्रीय लोगों का कहना है कि इतनी दूर से युवक आकर आत्महत्या यहां क्यों किया यह भी जांच का विषय है, और कहीं भी आत्महत्या कर सकता था। फिलहाल पुलिस हत्या और आत्महत्या दोनों पहलुओं पर जांच कर रही है। खण्डासा पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बद ही घटना के संबंध में कुछ कहा जा सकेगा।

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती? सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती?
सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को चुनाव आयोग को उस याचिका पर जवाब दाखिल करने के लिये एक सप्ताह का समय...

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel

साहित्य ज्योतिष