भ्रष्टाचार: दो माह से ह्यूम पाईप खरीद की रुपईडीह ब्लॉक के 106 ग्राम पंचायतों में  कागजों में चल रही जांच धूल फांक रही फाइलें,

 करोड़ों रुपए का भ्रष्टाचार पर अधिकारी डाल रहे पर्दा ,।प्रत्येक वर्ष ह्यूमन पाइप खरीदारी में जमकर हुआ भ्रष्टाचार , सिर्फ कागजों में  खरीदारी, ग्रामीण को नहीं मिल पा रहा लाभ 

भ्रष्टाचार: दो माह से ह्यूम पाईप खरीद की रुपईडीह ब्लॉक के 106 ग्राम पंचायतों में  कागजों में चल रही जांच धूल फांक रही फाइलें,

रुपईडीह ब्लॉक के 106 ग्राम पंचायत में ह्यूमन पाइप खरीदारी में जमकर  भ्रष्टाचार  किया गया,टीम गठित कर  विभिन्न ग्राम पंचायतों का जांच किए गए लेकिन जांच  ठंड बस्ते में बंद पड़े हुए हैं भ्रष्टाचार का 

कागजों  में जमकर हुई खरीदारी ,धरातल की वास्तविकता से कोसों दूर।                  
करोड़ों रूपयों का जमकर हुआ बंदर बांट , कैसे होगा विकास।
 
स्वतंत्र प्रभात बृजभूषण तिवारी 
ब्यूरो गोंडा। रुपईडीह ब्लॉक में जांच के नाम पर केवल और केवल की जाती है तो खानापूर्ति एक तरफ योगी सरकार भ्रष्टाचार के खिलाफ सख्त कार्रवाई कर रही है वहीं दूसरी तरफ सरकार के जीरो टॉलरेंस नीति को नहीं समझते ग्राम प्रधान व पंचायत सचिव के द्वारा मिल कर ह्यूम पाइप खरीद में जमकर  भ्रष्टाचार किया गया। वहीं विभागीय अधिकारियों द्वारा जब भी संबंध में पूछा जाता है तो उनके द्वारा बताया जाता है की जांच कराई जा रही है
 
लेकिन जांच के नाम पर सिर्फ और सिर्फ खानापूर्ति की जाती है वहीं दूसरी तरफ जल निकासी के लिए शासन के द्वारा  प्रतिवर्ष लाखों रुपये खर्च किए जा रहे हैं लेकिन  ग्राम पंचायतों में अभिलेखों में ह्यूम पाइप की खरीद दारी कर धनराशि का भुगतान  कर लिया जाता  है। मामला विकासखंड रूपईडीह के 106 ग्राम पंचायतों से जुड़ा हुआ हैं। जहां पर सभी ग्राम पंचायतों को मिलाकर लगभग करोड़ों रूपये ह्यूम  पाइप की खरीद दारी अभिलेखों में की गई लेकिन धरातल  से कोसों दूर है इनमें से 70 प्रतिशत से अधिक ग्राम पंचायतों में अभिलेखों में  खरीदारी दिखा कर धनराशि अहरण लिया गया  हैं।
 
  ग्राम प्रधान व सचिव  सहित उच्च अधिकारियों के मिली भगत से करोड़ों रुपए के ह्यूम पाइप की खरीदारी कर जगह जगह लगाने का दावा भी किया जा रहा है लेकिन धरातल पर कुछ और ही  वास्तविकता दिखाई दे रहा है।कई ग्राम पंचायत में ह्यूम पाइप काग़ज़ों में खरीदारी के पड़े हुए हैं उन पर जगह जगह लगाने का भी मजदूरी का फर्जी भुगतान कर लिया गया है ग्रामीण भी आवाज उठाते हैं, ब्लॉक के ग्राम पंचायत तेंदुवा चौखड़िया,
 
कौड़िया, चौहट्टा  बराहेमा, लाल नगर, पचरन, बभनीसराय, लोनवा दरगाह, पुरैनिया, रूपईडीह, पिपरा चौबे,बलूवा ककरा, तेलियानी पाठक, तिरेंमनोरमा, बलहीजोत, रज्जनपुर भवानीपुर खुर्द खरगूपुर डिंगुर महादेव कला नारायण पूर माफी शिवगढ़ केवलपुर बलवंत नगर सहित ब्लॉक लगभग सभी  गांवों में ह्यूम पाइप में भारी अनियमित की गई है टीम गठित कर अगर जांच कराई जाए तो  भ्रष्टाचार का परतदर परत राज खुलकर बाहर आ जाएंगे।सरकार के द्वारा लगातार ग्राम पंचायतों में लोगों की सुख सुविधाओं के लिए अलग-अलग मद से  बजट जारी कर गांव के विकास के लिए लगातार तत्पर है लेकिन ग्राम पंचायत में प्रधान व पंचायत सचिवों की मिली भगत से भ्रष्टाचार पर लगाम नहीं लगा पा रहा है
 
वल्कि जिम्मेदार अधिकारियों के द्वारा शासन के नियमों को दरकिनार कर भ्रष्टाचार कर धनराशि अहरण किया गया है जिसका जीता जागता हुआ उदाहरण रुपईडीह ब्लॉक में देखने को मिल रहा है जहां पर लगभग करोड़ों रुपए की ह्यूम पाइप काग़ज़ों में तो खरीद तथा लगाने पर श्रमिक भुगतान भी कर लिया गया लेकिन धरातल पर नहीं दिखाई पड़ रहा।इस सम्बन्ध में खंड विकास अधिकारी से भी संबंध में जानना चाहा लेकिन संपर्क नहीं हो सका।
 
 
जिला पंचायत राज अधिकारी लालजी दुबे से इस संबंध में पूछा गया तो उनके द्वारा बताया गया कि कुछ ग्राम पंचायत की जांच कराई गई है जानकारी करके संबंधित खिलाफत कार्रवाई की जाएगी।
 
खंड विकास अधिकारी मृत्युंजय यादव द्वारा बताया गया कि किसी के द्वारा शिकायत की गई थी जांच की जा रही है जांच में जैसा भी होगा उसके खिलाफत कार्रवाई की जाएगी

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती? सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती?
सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को चुनाव आयोग को उस याचिका पर जवाब दाखिल करने के लिये एक सप्ताह का समय...

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel

साहित्य ज्योतिष