आबुवा आवास योजना में हो रही है खुलकर धांधली

गरीब का नाम सूची से गायब और बिल्डिंग वाले का नाम सूची में है सुरक्षित

आबुवा आवास योजना में हो रही है खुलकर धांधली

 
साहेबगंज झारखंड:- 
साहेबगंज जिला अंतर्गत मंडरो प्रखंड के विभिन्न पंचायतों में अबूवा आवास योजना के नाम खुलकर धांधली की गई है। जिसमे बिचौलिया,आवासकर्मी और कंप्यूटर ऑपरेटर का भरपूर योगदान रहा है।बताते चले की मंडरो प्रखंड के लगभग सभी गांवों में जिन जिन लाभुको को आवास की अतिआवश्यकता है उन्हीं का नाम सूची से गायब कर दिया गया है।
 
जबकि सूची में कई ऐसे लाभुको का नाम अंकित है जिनको पूर्व में पीएम आवास मिला है,या उनका  दो मंजिला पक्का मकान पहले से है, साथ ही साथ एक दो जगहों पर कुंवारी लड़कियों का नाम भी सूची में आ चुका है,इसके अलावा उन सभी का स्कोर भी अच्छा खासा दिया गया है। सबसे बड़ी बात है की जियोटक या आवास वेरिफिकेशन के  समय आवास कर्मी की आंखे बंद हो गई थी या फिर दक्षिणा देकर इस तरह का काम कर रहे थे।क्योंकि कई ऐसे लाभुको का नाम सूची से गायब है जिनका घर की स्तिथि काफी बदतर है।
 
अब आगे देखना है की किया सूची में सीरियल नंबर के आधार पर आवास लिया जाएगा या फिर उसमे जांच होगा की किनका आवास पहले हुआ है या पक्का घर है आदि। क्योंकि अगर सही माने तो आवास स्वीकृति से पहले प्रत्येक लाभुक के घर की सही रूप से जांच होनी चाहिए। अन्यथा सरकार की जो इच्छा है की गरीबों को आवास का लाभ मिले, कहीं न कहीं इसके विपरीत होगा। इस मामले को लेकर प्रखंड से लेकर जिला तक के अधिकारियो से आग्रह है की प्रत्येक गांव में जांच उपरांत आवास योजना का लाभ दिया जाए।ताकि उचित व्यक्ति तक सरकार की यह योजना सही रूप से पहुंच सके। 

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel