मण्डलायुक्त ने  सिंचाई,  खाद्य एवं रसद  पंचायतीराज, जलनिगम से सम्बंधित शिकायतो का गुणवत्तापूर्ण ढंग से निस्तारणका निर्देश।

स्वास्थ्य कार्यक्रमों के क्रियान्वयन आर सी0 की वसूली में लापरवाही  पर कौशाम्बी, फतेहपुर एवं प्रतापगढ़ के पूर्व अपर जिलाधिकारियों से स्पष्टीकरण मांगा।

मण्डलायुक्त ने  सिंचाई,  खाद्य एवं रसद  पंचायतीराज, जलनिगम से सम्बंधित शिकायतो का गुणवत्तापूर्ण ढंग से निस्तारणका निर्देश।

स्वतंत्र प्रभात।
 ब्यूरो प्रयागराज।
 
      मण्डलायुक्त  विजय विश्वास पंत की अध्यक्षता में मंगलवार को आईजीआरएस, विकास प्राथमिकता कार्यों की मण्डलीय समीक्षा बैठक आयोजित की गयी। बैठक में मण्डलायुक्त ने आईजीआरएस पोर्टल की शिकायतों के निस्तारण एवं उसकी गुणवत्ता की समीक्षा करते हुए सभी सम्बंधित अधिकारियों को निर्देशित किया है कि शिकायतों का निस्तारण गुणवत्तापूर्ण ढंग से निर्धारित समयसीमा में अनिवार्य रूप से किया जाये। उन्होने कहा कि आईजीआरएस से सम्बंधित शिकायतों का निर्धारित समयसीमा में निस्तारण हो।
 
  समीक्षा में अधीक्षण अभियंता सिंचाई, संयुक्त उपायुक्त खाद्य एवं रसद विभाग, उपनिदेशक पंचायतीराज, अधीक्षण अभियंता जलनिगम से सम्बंधित शिकायतों के निस्तारण की गुणवत्ता का फीडबैक खराब पाये जाने पर मण्डलायुक्त ने निस्तारण की गुणवत्ता पर नाराजगी व्यक्त करते हुए शिकायतों का निस्तारण गुणवत्तापूर्ण ढंग से कराये जाने का निर्देश दिया है। साथ ही साथ यह भी निर्देशित किया है कि अगली समीक्षा बैठक में यदि शिकायतों के निस्तारण की गुणवत्ता का फीडबैक में सुधार नहीं पाया गया, तो सम्बंधित अधिकारियों के विरूद्ध एडवर्स की कार्रवाई की जायेगी।
 
 
      मण्डलायुक्त ने ग्राउण्ड ब्रेकिंग सेरेमनी से सम्बंधित इकाईयों/निवेशकों से सम्बंधित आवेदनों को शीघ्रता से निस्तारण किए जाने।   सम्बंधित अधिकारियों को निवेशकों/उद्यमियों के साथ बातचीत करते रहने व उनकी समस्याओं का शीर्ष प्राथमिकता पर समाधान सुनिश्चित कराये जाने के लिए कहा है।
 
 योजना की प्रगति की समीक्षा करते हुए निर्धारित लक्ष्य के सापेक्ष प्रगति सुनिश्चित किए जाने के निर्देश दिए है। पशु पालन विभाग की समीक्षामें मण्डलायुक्त ने छुट्टा घूमने वाले निराश्रित गोवंशों को गो-आश्रय स्थलों में अनिवार्य रूप से संरक्षित किए जाने का निर्देश दिया है। उन्होंने मण्डल के सभी मुख्य पशुचिकित्साधिकारियों को निराश्रित गो-आश्रय स्थलों की क्षमता वृद्धि करने एवं नए गो-आश्रय स्थलों के निर्माण कार्य को शीघ्रता से पूर्ण कराये जाने का निर्देश दिया है। उन्होंने गो-आश्रय स्थलों में संरक्षित गोवंशों को ठण्ड से बचाव हेतु सभी आवश्यक व्यवस्थायें समय से सुनिश्चित किए जाने का निर्देश दिया है।
 
     जल जीवन मिशन के अन्तर्गत कराये जा रहे कार्यों की समीक्षा करते हुए  हर घर जल योजना के अन्तर्गत पाईप लाइन बिछाने, कनेक्शन दिए जाने, ओवर हेड टैंक के निर्माण, पम्प लगाने सम्बंधी कार्यों में तेजी लाये जाने का निर्देश कार्यदायी संस्था को दिया है। उन्होंने कार्यदायी संस्था को कर्मियोें की संख्या बढ़ाकर कार्य को शीघ्रता से पूरा कराये जाने के लिए कहा है।  पाईप लाइन बिछाते समय सड़कों/सम्पर्क मार्गों की खुदाई करने एवं उसमें पाईप लाइन बिछाने के बाद अनिवार्य रूप से सड़कों को पुनः उसी स्थिति में बनाये जाने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा है कि यदि कहीं से भी ऐसी शिकायत पायी गयी कि खुदाई करने के बाद सड़क को ठीक ढंग से नहीं बनाया गया है, तो सम्बंधित के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की जायेगी।
 
     मण्डलायुक्त ने स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा करते हुए स्वास्थ्य विभाग से सम्बंधित चल रही योजनाओं/कार्यक्रमों जिसमें बच्चों एवं गर्भवती महिलाओं से सम्बंधित योजनाओं के क्रियान्वयन में विशेष ध्यान दिए जाने का निर्देश दिया है। आशाओं के भुगतान, बच्चों एवं गर्भवती महिलाओं के टीकाकरण, डिस्चार्ज होने वाले बच्चों की मानीटरिंग, एएनसी, जननी सुरक्षा योजना के अन्तर्गत प्रसूताओं को मिलने वाले इंसेंटिव सहित कई अन्य योजनाओं/कार्यक्रमों की प्रगति ठीक न पाये जाने पर मण्डलायुक्त ने सभी मुख्य चिकित्साधिकारियों को सख्त निर्देश देते हुए कार्यों में प्रगति लाये जाने का निर्देश दिया है साथ ही साथ उन्होंने लापरवाही बरतने वाले प्रभारी चिकित्साधिकारियों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई किए जाने का निर्देश दिया है। उन्होंने सभी मुख्य चिकित्साधिकारियों को हिदायत दी है कि यदि लापरवाह प्रभारी चिकित्साधिकारियों के विरूद्ध कार्रवाई नहीं की जाती है, तो मुख्य चिकित्साधिकारियों के विरूद्ध ही कड़ी कार्रवाई की जायेगी।  
 
    मण्डलायुक्त ने गड्ढ़ा मुक्ति अभियान के कार्यों की समीक्षा करते हुए उन्होंने मुख्य अभियंता पीडब्लूडी से गड्ढ़ा मुक्त अभियान के तहत कितनी सड़कों को गड्ढा मुक्त किया जाना था, कितनी सड़के गड्ढ़ा मुक्त हुई, कितना बजट आवंटित था तथा कितना बजट खर्च किया गया, से सम्बंधित विस्तृत रिपोर्ट प्रस्तुत करने का निर्देश दिया है। उन्होंने नई स्वीकृत सड़कों के निर्माण की प्रगति के बारे में भी जानकारी प्राप्त करते हुए मानक के अनुसार निर्धारित समय-सीमा में गुणवत्तापूर्ण ढंग से कार्यों को पूर्ण कराये जाने का निर्देश दिया है। सड़कों के अनुरक्षण एवं रख-रखाव की समीक्षा करते हुए प्रयागराज, फतेहपुर एवं प्रतापगढ़ का कार्य संतोषजनक न पाये जाने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए अनुरक्षण एवं रख-रखाव के कार्यों को ठीक ढंग से कराये जाने का निर्देश दिया है।
 
राजस्व वसूली की समीक्षा में खनन एवं वाणिज्यकर विभाग की आर0सी0 के सापेक्ष वसूली कम पाये जाने पर मण्डलायुक्त ने कौशाम्बी, फतेहपुर एवं प्रतापगढ़ के पूर्व अपर जिलाधिकारियों से स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने एवं वर्तमान समय में तैनात अपर जिलाधिकारियों को सचेत करते हुए वसूली में तेजी लाये जाने का निर्देश दिया है। उन्होंने खनन अधिकारियों को खनन स्थलों पर लगाये गये कैमरों को अनिवार्य रूप से क्रियाशील बनाये रखने एवं प्रत्येक दशा में रसीद काटा जाना सुनिश्चित किए जाने का निर्देश दिया है। उन्होंने सम्भागीय परिवहन अधिकारी एवं खनन अधिकारी को ओवर लोडिंग पर विशेष सकर्तकता एवं निगरानी बनाये रखने के निर्देश दिए है। चकबंदी अधिकारियों को 5 साल से ऊपर के लम्बितवादों को शीघ्रता से निस्तारित किए जाने का निर्देश दिया है। इस अवसर पर सभी मुख्य विकास अधिकारीगणों के साथ-साथ अपर आयुक्त एवं संयुक्त उपायुक्त सहित सम्बंधित विभागों के मण्डलीय अधिकारी उपस्थित रहे।
 
 
 
 

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel