वन माफिया द्वारा काटे गए प्रतिबंधित पेड़ों की जांच करने पहुंची महिला वनरक्षक की आंखों पर लगा नोटों का काला चश्मा नहीं दिखाई दे रहे कटे हुए पेड़ों के अवशेष ठूठ

वन माफिया द्वारा काटे गए प्रतिबंधित पेड़ों की जांच करने पहुंची महिला वनरक्षक की आंखों पर लगा नोटों का काला चश्मा नहीं दिखाई दे रहे कटे हुए पेड़ों के अवशेष ठूठ

बाराबंकी
 
वन माफिया द्वारा बीते 7 जून को क्षेत्रीय वनरक्षक महिला कर्मचारी तथा कोठी पुलिस से सांठगांठ कर थाना क्षेत्र के उस्मानपुर की बरदही बाजार में वन माफिया छोटू के द्वारा प्रतिबंधित चार पैड काटे गए थे ।
 
प्रतिबंधित पेड़ों की शिकायत वन क्षेत्राधिकारी हरख को दी गई त्वरित कार्रवाई करते हुए विभाग के कर्मचारी पेड़ों कीजांच करने पहुंचे परंतु उनके पहुंचने से पहले ही वन माफिया को विभाग द्वारा सूचना मिलते ही समस्त लकड़ी को लेकर वह रफूचक्कर हो गया लेकिन जाते-जाते उसने साक्ष्य के रूप में एक बेटा छोड़ दियाऔर वही वन माफिया से सांठगांठ किए हुए कर्मचारी द्वारा उसे रात को ही सूचित करते हुए पेड़ों के अवशेष ठूठों को ठिकाने लगाने का उपाय भी बताया गया और उस वर माफिया के द्वारा रात में ही कुछ ठूठों को खुदवा दिया गया L
 
जिसकी जांच करने पहुंची आज महिला वनरक्षक जिनकी आंखों पर नोटों का काला चश्मा लगा होने के कारण उन्हें उस बाग में कोई भी कटे हुए पेड़ का अवशेष ठूठ नहीं दिखाई दियावन क्षेत्राधिकारी को भी गुमराह करने जैसी भ्रमित सूचना दी गई जिससे उसकाली कमाई के स्रोत वन माफिया को विभागीय कार्यवाही से बचाया जा सके जिससे ऐसा लग रहा कि यहां पर कोई कटान हुआ ही नहीं है अब देखने वाली बात यह होगी कि वन क्षेत्राधिकारी अवैध कटान को लेकर किसके खिलाफ कार्रवाई करते हैं या फिर यूं ही लीपापोती कर मामले को ठंडे बस्ते में डाल दिया जाएगा L
 
 

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel