हिंदी पत्रकारिता दिवस कार्यक्रम का आयोजन, वक्ताओं ने युवाओं को एक नई विचारधारा के साथ कार्य करने के लिए किया प्रेरित

हिंदी पत्रकारिता दिवस कार्यक्रम का आयोजन, वक्ताओं ने युवाओं को एक नई विचारधारा के साथ कार्य करने के लिए किया प्रेरित

स्वतंत्र प्रभात 


मिल्कीपुर, अयोध्या।मिल्कीपुर तहसील के नगर पंचायत कुमारगंज अंतर्गत खंडासा मोड स्थित मीडिया सेंटर कार्यालय में मंगलवार को हिंदी पत्रकारिता दिवस के उपलक्ष्य में तहसील के पत्रकार साथियों ने विचार संगोष्ठी का आयोजन किया।पत्रकार सूरज कौशल ने पत्रकारिता दिवस पर कार्यक्रम में शामिल पत्रकारों को डायरी एवं पेंन देकर स्वागत एवं किया।
 हिंदी पत्रकारिता विषय पर हुई संगोष्ठी का शुभारंभ मुख्य अतिथि वरिष्ठ पत्रकार राणा प्रताप सिंह व बीपी पाण्डेय अशोक सिंह, आनंद तिवारी, दिनेश जायसवाल, सूरज कौशल, विजय पाठक, दिवाकर चंद, वेद प्रकाश सहित दर्जनों पत्रकारों ने केक काटकर कार्यक्रम का शुभारंभ किया पत्रकारों ने हिंदी पत्रकारिता दिवस पर अपने अपने विचार भी व्यक्त किए।
वरिष्ठ पत्रकार राणा प्रताप सिंह ने कहा कि आज ही के दिन हिंदी भाषा में 'उदन्त मार्तण्ड' के नाम से पहला समाचार पत्र 30 मई 1826 को कलकत्ता से निकाला गया था। इसलिए इस दिन को हिंदी पत्रकारिता दिवस के रूप में मनाया जाता है। उन्होंने कहा कि हर दिन हमें हिंदी पत्रकारिता के क्षेत्र में कुछ न कुछ सीखने को मिलता रहता है। बस कोशिश यही रहनी चाहिए कि पत्रकारिता में ईमानदारी व निष्ठा पूर्वक कार्य करने की क्षमता का विकास हो। 
इस दौरान बीपी पाण्डेय ने कहा कि हिंदी पत्रकारिता आज भी सबसे लोकप्रिय है। हिंदी को पत्रकारिता का मूल आधार बताते हुए युवाओं को इससे जुड़कर एक नई विचारधारा के साथ कार्य करने की बात कही। दिनेश जायसवाल ने कहा कि हिंदी भाषा की लोकप्रियता दिनोंदिन बाजार और सोशल मीडिया में तेजी से बढ़ रही है । आज हिंदी को बढ़ावा देने और आगे ले जाने के लिए किसी व्यक्ति या व्यक्ति समूह की आवश्यकता नहीं है। बल्कि आज हिंदी भाषा को टेक्नोलॉजी से बेरोजगार युवा आगे बढ़ते जा रहे हैं। टेक्नोलॉजी ने हिंदी कोश प्रभाव बनाया है। आज के समय में बड़े पैमाने पर युवा इंटरनेट पर हिंदी सामग्री पेश कर रहे हैं। इंटरनेट पर हिंदी का प्रयोग करने वाले लोगों की संख्या दिनों दिन बढ़ती जा रही है।

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

उप चुनाव: बंगाल में भाजपा की पकड़ कमजोर, हिंदी पट्टी में कांग्रेस की बढ़त,। उप चुनाव: बंगाल में भाजपा की पकड़ कमजोर, हिंदी पट्टी में कांग्रेस की बढ़त,।
स्वतंत्र प्रभात ब्यूरो।   7 राज्यों- हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश, उत्तराखंड, तमिलनाडु, पंजाब, पश्चिम बंगाल और बिहार - की 13 सीटों...

Online Channel

साहित्य ज्योतिष