तान्या किन्नर पर जानलेवा तीन हमलावर गिरफ्तार

तान्या किन्नर पर जानलेवा तीन हमलावर गिरफ्तार

गोरखपुर। सहजनवा थाना क्षेत्र के धधसरा चौकी अंतर्गत क्षेत्र बंटवारे को लेकर किन्नरों ने तान्या किन्नर पुत्री ओमप्रकाश किन्नर निवासी भीमापार थाना सहजनवा जनपद गोरखपुर को बाइक सवार दो बदमाशों द्वारा जान से मारने की नियत से गोली मार कर घायल कर दिया गया था।
 
घटना में संलिप्त एक अभियुक्त को सहजनवा पुलिस ने अगले दिन ही गिरफ्तार कर लिया था उसके बाद भी किन्नरों ने सहजनवा थाने पर गिरफ्तारी को लेकर रोड जाम कर आम जनमानस को परेशान करने का कार्य किया था वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ गौरव ग्रोवर ने पुलिस लाइन व्हाइट हाउस सभागार में प्रेस वार्ता कर बताया।
 
कि तानिया किन्नर के ऊपर जानलेवा हमला करने वाले किन्नरों के सहयोगियों रणविजय यादव पुत्र राम प्यारे यादव निवासी सुरदही थाना सहजनवा गोरखपुर  दुर्गेश मद्धेशिया पुत्र स्वर्गीय हरकेश गुप्ता निवासी केशवपुर थाना सहजनवा गोरखपुर रवि यादव पुत्र जगनरायण यादव निवासी बडी सुरौली थाना कोतवाली खलीलाबाद संत कबीर नगर को गिरफ्तार किया इससे पूर्व एक अज्ञात अभियुक्त को गिरफ्तार करने के बाद ज्ञात हुआ।
 
कि अभियुक्तगण रामकरन भारती उर्फ प्रिया किन्नर तथा तान्या किन्नर के बीच क्षेत्र बंटवारे को लेकर 6 माह पूर्व काफी विवाद हुआ था उस विवाद में तान्या किन्नर, प्रिया किन्नर का कुछ क्षेत्र अपने हिस्से में ले लिया था इसी बात से प्रिया किन्नर, तान्या किन्नर से नाराज थी। तब तान्या किन्नर को रास्ते से हटाने के लिए प्रिया किन्नर ने अपने गुरु किरन किन्नर से अनुमति लेकर, अपने पुरुष मित्र (कथित पति) रणविजय यादव और तान्या किन्नर के पूर्व ड्राइवर दुर्गेश मद्धेशिया (जिसे फरवरी माह से तान्या ने अपनी ड्राइवरी से निकाल दिया था।
 
तथा दुर्गेश मद्धेशिया के पुराने मित्र रवि यादव पुत्र जगनारायण यादव जो दुर्गेश से ट्रेन में चना बेचते समय करीब 06 वर्ष पहले मिला था व अतुल दूबे (रणविजय का मित्र), संगम, सोनू मिलकर घटना को अन्जाम दिये ।  घटना के वक्त दुर्गेश मद्धेशिया मोटर साइकिल पल्सर चला रहा था तथा रणविजय यादव पल्सर पर पीछे बैठा था । रणविजय ने ही तान्या किन्नर को जान से मारने के इरादे से पीछे से गोली मार दिया था।
 
तथा HF डीलक्स मोटर साइकिल पर अतुल दूबे तथा संगम नामक युवक सवार थे व सुपर स्पलेन्डर मोटर साइकिल पर सोनू व रवि यादव सवार थे जो घटना के समय शामिल थे। अबे इन किन्नरों की गिरफ्तारी से क्षेत्र बंटवारे को लेकर हुए विवाद शांत होने की प्रबल संभावना है। प्रेस वार्ता के दौरान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ गौरव ग्रोवर  पुलिस अधीक्षक उत्तरी मनोज कुमार अवस्थी सीओ कैंपियरगंज रत्नेश्वर सिंह रहे मौजूद।

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती? सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से पूछा कि कुल पड़े वोटों की जानकारी 48 घंटे के भीतर वेबसाइट पर क्यों नहीं डाली जा सकती?
सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को चुनाव आयोग को उस याचिका पर जवाब दाखिल करने के लिये एक सप्ताह का समय...

अंतर्राष्ट्रीय

Online Channel

साहित्य ज्योतिष