बिजली कर्मचारियों की हड़ताल का देहात क्षेत्र में दिखा असर

बाईस घण्टों से निरन्तर जहांगीराबाद सहित पूरे साण्डा क्षेत्र में विद्युत आपूर्ति पूरी तरह ठप।

बिजली कर्मचारियों की हड़ताल का देहात क्षेत्र में दिखा असर

बिसवां (सीतापुर)। इन दिनों अपनी मांगों के समर्थन में बिजली कर्मचारियों द्वारा किये जा रहे हड़ताल का असर धीरे धीरे ग्रामीण क्षेत्रों में देखने को मिलने लगा है। जहांगीराबाद क्षेत्र सहित पूरे साण्डा से गुरुवार सायंकाल लगभग सात बजे अचानक बिजली गुल हो गई थी जो बाइस घण्टों बाद भी नहीं सही हो सकी है। बिजली विभाग के जिम्मेदार अधिकारी तो फोन का स्विच ऑफ किये हुये हैं जबकि लाइन मैन फोन नहीं उठा रहे हैं।
 
सरकार और बिजली विभाग के बीच कोई समझौता या हल न निकल पाने की दशा में एक आम नागरिक पिसा जा रहा है। बिजली न मिलने से तमाम प्रतिष्ठानों के कार्य तो प्रभावित ही हैं बल्कि मोबाइल चार्ज न हो पाने के कारण आपसी सम्पर्क भी बंद हो जा रहा है।
 
बिजली का असर जहांगीराबाद, मवासेपुर,छठवान, मीनापुर, रघुनाथपुर, गनुवापुर, अहरोरी, दानपुरवा,फरदापुर व कहारनपुरवा , देवरियाखुर्द, पूंजीखेरा, महादेवा, चमारनपुरवा, कम्हरिया पूंजीखेरा, महादेवा, पटना, पटनी, विशम्भरपुर, बघेलिया, टेंढ़ीपुरवा,झौव्वा पटना, टेड़वा, मंगूचौराहा , गोधनी, सरैंय्या, बढ़हीडीह, आमगौरिया, अमिरती, बसुदहा, बजेहरा व सोहरवा सहित कई दर्जन अन्य गांवों की लगभग एक लाख से अधिक जनता बिजली आपूर्ति बाधित होने से काफी परेशान हैं।इस समय‌ सीबीएसई की‌ बोर्ड परीक्षाएं चल रही हैं उसमें भी ‌परीक्षार्थियों को तैय्यारी करने में भारी परेशानी हो रही है।
 
बिजली विभाग के कर्मचारियों के हड़ताल पर चले जाने के कारण शासन के निर्देश पर इस समय राजस्व विभाग के कर्मियों बिसवां के नायब तहसीलदार, कानूनगो व लेखपालों को वैकल्पिक व्यवस्था बनाये रखने के लिए हर पावर स्टेशन तथा पावर सबस्टेशनों पर तैनात किया गया है लेकिन फाल्ट होने पर राजस्व विभाग के कर्मचारी लाइन मैनों को ढूंढ रहे हैं।
 
कुल मिलाकर इस बार हड़ताल का भारी असर पड़ा है। इस सम्बन्ध‌‌ में‌ साण्डा पावर हाउस पर जिम्मेदारी निभा रहे बिसवां तहसील में लेखपाल संघ के अध्यक्ष सत्येन्द्र कुमार यादव ने बताया कि लाइन मैनों को ढूंढ रहा हूं।एक मिला है वह कन्दुनी में ठीक करने गया हुआ है वापस आने पर साण्डा में दिखवाऊंगा।
 
नायब तहसीलदार अजय यादव ने बताया कि कहीं मोहारी फीडर में फाल्ट है।जब उसने जहांगीराबाद फीडर के बारे में बात की गयी तो उन्होंने बताया कि बिसवां की ओर 33000 लाइन में फाल्ट है। वैकल्पिक व्यवस्था के लिए लाइन मैन ढूंढे जा रहे हैं जैसे ही कोई मिलता है तो सप्लाई बहाल करा दी जायेगी।अब बिजली कब मिलेगी , मिलेगी भी या ऐसे ही समय काटना पड़ेगा यह भविष्य बतायेगा।
 

About The Author

Post Comment

Comment List

आपका शहर

अंतर्राष्ट्रीय

Italy में मेलोनी ने की खास तैयारी जी-7 दिखेगी मोदी 3.0 की धमक Italy में मेलोनी ने की खास तैयारी जी-7 दिखेगी मोदी 3.0 की धमक
International Desk इटली की प्रधानमंत्री जार्जिया मेलोनी के निमंत्रण पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 14 जून को 50वें जी-7 शिखर सम्मेलन...

Online Channel